+

हैदराबाद गैंगरेप: आरोपियों के एनकाउंटर पर नेताओं ने दी यह प्रतिक्रिया, जाने किसने क्या कहा

हैदराबाद गैंगरेप: आरोपियों के एनकाउंटर पर नेताओं ने दी यह प्रतिक्रिया, जाने किसने क्या कहा
हैदराबाद में महिला चिकित्सक से गैंगरेप के चार आरोपियों की पुलिस के साथ कथित मुठभेड़ में मौत के हो गई है। मुठभेड़ में मारे गए आरोपियों को लेकर अलग-अलग दल के नेताओं की मुलीजुली प्रतिक्रया सामने आई है। कई नेताओं ने इस घटना को सही ठहराते हुए तेलंगाना पुलिस की तारीफ की है, तो वहीं कुछ नेताओं ने इस घटना को देश के लिए भयानक बताया है। इस घटना पर सपा सांसद जया बच्चन ने कहा कि ‘‘देर आए दुरुस्त आ।’’
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तेलंगाना में महिला पशुचिकित्सक से रेप और हत्या के सभी चार आरोपियों को मुठभेड़ में मारे जाने पर कहा, जब एक अपराधी भागने की कोशिश करता है, तो पुलिस के पास कोई अन्य विकल्प नहीं बचता है, यह कहा जा सकता है कि न्याय किया गया है। वहीं कांग्रेस नेता एवं लोकसभा सांसद शशि थरूर ने कहा कि न्यायेतर हत्याएं स्वीकार्य नहीं है। 
उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘सैद्धांतिक रूप से सहमत हूं। हमें और जानने की जरूरत है, उदाहरण के लिए अगर आरोपियों के पास हथियार थे तो पुलिस का गोली चलाना सही था। विस्तृत जानकारी मिलने तक इसकी निंदा करना सही नहीं है, लेकिन कानून के समाज में न्यायेतर हत्याएं स्वीकार्य नहीं है।’’
राष्ट्रीय महिला आयोग की प्रमुख रेखा शर्मा ने कहा कि आरोपियों के मारे जाने से खुश हूं, लेकिन न्याय उचित कानूनी तरीके से किया जाना चाहिए। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, बलात्कार के मामले जो देर से प्रकाश में आए हैं, लोग गुस्से में हैं कि क्या यह उन्नाव या हैदराबाद है, इसलिए लोग एनकाउंटर पर खुशी व्यक्त कर रहे हैं। यह भी कुछ चिंता की बात है, जिस तरह से लोगों ने आपराधिक न्याय प्रणाली में अपना विश्वास खो दिया है। आपराधिक न्याय प्रणाली को मजबूत करने के लिए सभी सरकारों को एक साथ मिलकर कार्रवाई करनी होगी।
 राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की नेता राबड़ी देवी ने इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, हैदराबाद में जो हुआ वह अपराधियों के खिलाफ निवारक के रूप में कार्य करेगा, हम इसका स्वागत करते हैं। बिहार में भी महिलाओं के खिलाफ अपराधों के मामले बढ़ रहे हैं। यहां राज्य सरकार शिथिल है और कुछ नहीं कर रही है।
बीजेपी सांसद मेनका गांधी ने इस तेलंगाना पुलिस की इस कार्यवाही पर सवाल खड़े करे हुए कहा, जो भी हुआ है बहुत भयानक हुआ है देश के लिए। इसका समाधान एनकाउंटर नहीं है। जूडिशल सिस्टम के तहत सजा मिलनी चाहिए। वहीं योग गुरु बाबा रामदेव ने इस मामले पर बोलते हुए कहा, पुलिस ने जो किया है वह बहुत ही साहसपूर्ण है और मुझे कहना होगा कि न्याय दिया गया है। 
निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने कहा, एक मां, एक बेटी और एक पत्नी होने के नाते, मैं इसका (तेलंगाना मुठभेड़) स्वागत करती हूं, वरना वे सालों जेल में रहते। निर्भया का नाम भी निर्भया नहीं था, लोगों ने नाम दिया है, मुझे लगता है उसे नाम देने के बजाये इन्हे ऐसा अंजाम देना ज़रूरी है।इस पर कानूनी सवाल अलग बात है, लेकिन मुझे यकीन है कि देश के लोग अब शांति पर हैं। 
वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के सांसद कामुरु रघु राम कृष्ण राजू ने कहा, आरोपी गोली मारकर हत्या करने के योग्य थे। भगवान दयालु हैं कि उन्हें गोली मार दी गई, यह एक अच्छा सबक है। उन्होंने भागने की कोशिश की और वे मारे गए। किसी भी एनजीओ को इसका विरोध नहीं करना चाहिए और यदि वे ऐसा करते हैं, तो वे राष्ट्र-विरोधी हैं।

टॉप न्यूज़ :
facebook twitter