EVM मशीन में अगर किसी तरह की छेड़छाड़ हुई तो बिहार में खून-खराबा हो सकता है : महागठबंधन

पटना : एक्जिट पोल पर अब देश की जनता को विश्वास नहीं रहा। इस बार भी कड़ी धूप में गरीब-गुरबा कतार में लगकर अपने मनचाहे प्रत्याशी को वोट दिया। उन वोटों का अवहेलना कर एक्जिट पोल ने आम जनता को धोखा देने का काम किया। ये बातें आज महागठबंधन में राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे, रालोसपा के सुप्रीमो उपेन्द्र कुशवाहा, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, हम के प्रदेश अध्यक्ष बी. एल. वैश्यंत्री, वीआईपी पार्टी के सुप्रीमो मुकेश सहनी ने संयुक्त प्रेसवार्ता में कही।

उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर के समय जब बूथ की लूट होती थी तो उस समय कर्पूरी जी का फार्मूला- बूथ लूटना और इज्जत लूटना एक ही बात है। इसलिए केन्द्र और राज्य सरकार ऐसा कोई काम नहीं करे जिससे जनता की अवेहलना हो सके। जिस तरह देश में ईबीएम मशीन बदलने के लिए बहुत जगह पकड़ा गया इससे यह लगता है कि सरकार के नीयत ठीक नहीं है।

अगर इस तरह का कोई भी कार्य हुआ तो खून-खराबा हो सकता है। क्योंकि केन्द्र सरकार हार रही है जीतने के लिए कुछ भी कर सकती है और कहीं तक जा सकता है। मैं जनता से आग्रह करता हॅू कि आप सतर्क रहें कहीं भी इस तरह की सूचना मिले है तो आप भी सुरक्षा कर सकते हैं। एक्जिट पोल से ग्रामीण क्षेत्र में वोटरों को निराश होना पड़ा रहा है।

क्योंकि इस बार के चुनाव में वोटरों ने किसी को कुछ नहीं बताया बल्कि वे मौन थे। केन्द्र सरकार मीडिया के सहारे चुनाव जीतना चाहता है जो संभव नहीं है। अगर ईबीएम मशीन में छेड़छाड़ हुई तो बिहार की जनता सडक़ पर उतरेगी। खून-खराबा हो सकता है। गरीब का वोट और इज्जत एक समान है। इस अवसर पर प्रवक्ता राजेश राठौर, दानिश रिजवान, विजय यादव, धीरू यादव एवं अन्य उपस्थित थे।

Tags : ,Bihar