राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ नहीं होता तो हिन्दुस्तान नहीं होता : सतीश पूनिया

राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के नवनियुक्त अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ एक ऐसा आंदोलन है जो देश और दुनिया को बदलने की ताकत रखता है और अगर संघ नहीं होता तो हमारा हिन्दुस्तान भी नहीं होता। 

जयपुर में एक कार्यक्रम के बाद पूनिया ने कांग्रेस का नाम लिए बगैर उसपर निशाना साधते हुए कहा, "मैं समझता हूं यह इतिहास छुपा नहीं है और इतिहास के तथ्य छुपे नहीं हैं। इस देश में विभाजन किसने कराया, मुगलों और अंग्रेजों से साठगाठ किसने की? मुझे लगता है अगर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने नहीं होता तो हिन्दुस्तान नहीं होता।"

विपक्षी दल पर कटु व्यंग्य करते हुए उन्होंने सवाल किया, "इस देश में राम मंदिर को ध्वस्त करके बाबरी मस्जिद को इस तरीके से मुद्दा किसने बनाया।" उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि इस देश में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ नहीं होता तो शायद देश नहीं होता। आज देश में लोकतंत्र भी बचा है और इस लोकतंत्र की अक्षुणता के साथ-साथ पूरे देश और दुनिया में भारत के स्वाभिमान की धमक बढी। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ अपने आप में शब्द या संस्था नहीं है बड़ा आंदोलन है जो देश और दुनिया को बदल सकता है।" 

पूनिया को शनिवार को राजस्थान भाजपा का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। उल्लेखनीय है कि संघ पृष्ठभूमि के जाट नेता पूनिया मूल रूप से राजगढ़ (चुरू) के हैं और आमेर (जयपुर) से विधायक हैं। वे लगभग डेढ दशक से भाजपा के प्रदेश महामंत्री रहे हैं और प्रदेश प्रवक्ता भी हैं। 

Tags : भारतीय जनता पार्टी,Bharatiya Janata Party,गुजरात,Gujarat,उना कांड,विधायक प्रदीप परमार,Una Kand,MLA Pradeep Parmar ,Hindustan,Rashtriya Swayamsevak Sangh,Satish Poonia