जाट आरक्षण के नाम पर सरकार ने जाटों को धोखा देने का काम किया : चौटाला

पलवल : दूसरे दलों से आये कार्यकर्ताओं को में इनेलो में शामिल करने पहुंचे इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने भाजपा, जजपा और कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा ने जाट आरक्षण के नाम पर जाटों को धोखा देने का काम किया तो वहीं भाजपा को सत्ता दिलाने वाले राम रहीम को भी धोखा देकर भाजपा ने जेल में भेजने का काम किया और उनके अनुयाईयों पर गोलियां चलवाई। 

अभय सिंह चौटाला ने  कहा कि शराद में कोई काम शुभ नहीं होता वो अपनी टिकटों की घोषणा नवरात्रे में करेंगे। 25 सिंतबर को कैथल में इनेलो द्वारा आयोजित की जा रही ताऊ देवीलाल की पुणयतिथि का न्यौता देने पलवल पहुंचे इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने दूसरे दलों से आये कई नेताओं को इनेलो पार्टी में शामिल कराया और जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने हर वर्ग को धोखा देने का काम किया है युवाओं को रोजगार नहीं दिये गये। 

जाट आरक्षण के नाम पर भाजपा सरकार ने जाटों को धोखा देने का काम किया वहीं आरक्षण के नाम पर हिंसा में कई लोगों की जान ले ली। वहीं जिस राम रहिम ने पूरे प्रदेश में भाजपा को अपना समर्थन हरियाणा प्रदेश की सरकार बनाई उन्हे  भी भाजपा ने इनाम देने की बजाय धोखा देकर जेल में डालने का काम किया साथ ही पंचकुला में 50 के करीब बाबा समर्थकों को हिंसा के नाम पर गोलियों से भून दिया गया। इसी तरह प्रदेश को कई बार भाजपा सरकार ने जलाने का काम किया। 

उन्होने कहा कि 25 सिंतबर को कैथल में इनेलो द्वारा आयोजित की जा रही ताऊ देवीलाल की पुणयतिथि में हर विधासभा से 300-300 वाहन लोगों को लेकर जायेंगे। उस दिन इनेलो अपना शक्ति प्रदर्शन करेगी ताकि उन लोगों को जबाव मिल सके जो लोग कहते हैं कि अब इनेलो कमजोर हो चुकी है। वहीं इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने जजपा की टिकटों की घोषणा पर चुटकी लेते हुए कहा कि शराद में कोई काम शुभ नहीं होता हम अपने प्रत्याशियों की घोषणा नवरात्रों के दौरान करेंगे। 

उन्होने कहा कि भगोड़ों को भाजपा ने मौका दिया आज भाजपा की हालत देखने दिखाने लायक हैं।  इस दौरान अभय सिंह चौटाला ने इनेलो छोडक़र कांग्रेस में जा रहे अशोक अरोड़ा और कांग्रेस पार्टी पर भी चुटकी ली और कहा कि पहले तो उन्कहे कांग्रेस में जाने पर बधाई। जिस पार्टी के अंदर दस नेता सीएम के दावेदार हैं उस पार्टी में यदि कोई शामिल होता है तो उसके सामने सबसे बड़ी समस्या ये आयेगी की वो किस के गीत गायें। 

वो पार्टी अध्यक्ष के गीत गायेंगे या फिर किरन चौधरी के गीत गायेंगे या फिर हुड्डा के गीत गाये जाएं या फिर अशोक तंवर, सुरजेवाला या सैलजा के गीत गाये जाएं अशोक अरोड़ा की सबसे बड़ी अनदेखी कांग्रेस में होने वाली है ये तो उन्होने सोचा भी नहीं होगा।
Tags : Chhattisgarh,Congress,Raipur,रमन सरकार,Raman Sarkar,Tribal Department,Pathargarh agitation ,Jat,government,Abhay Singh Chautala,BJP,party,Congress