+

उत्तर प्रदेश में सगी दलित बहनों से 3 लोगों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, पुलिस कर रही जांच

यूपी से दो दलित बहनों को बंदी बनाकर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। पूरा मामला अयोध्या का है। इस घटना को तीन लोगों ने अंजाम दिया है। पुलिस ने कहा कि पीड़ितों, जिनमें से एक नाबालिग है, उन्हें मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है।
उत्तर प्रदेश में सगी दलित बहनों से 3 लोगों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, पुलिस कर रही जांच
यूपी से दो दलित बहनों को बंदी बनाकर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। पूरा मामला अयोध्या का है। इस घटना को तीन लोगों ने अंजाम दिया है। पुलिस ने कहा कि पीड़ितों, जिनमें से एक नाबालिग है, उन्हें मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है। घटना उस वक्त हुई, जब दोनों बहनें बीकापुर थाना क्षेत्र के अपने गांव के पास शेरपुरपुरा बाजार से लौट रही थीं।
वही, तीनों आरोपियों ने उन्हें बंदी बना लिया और गन्ने के खेत में ले जाकर उनके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। उन्होंने पीड़िताओं को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी और भाग गए। बीकापुर के अंचल अधिकारी प्रमोद कुमार यादव ने कहा कि आरोपियों की तलाश के लिए व्यापक तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है।
पीड़िताओं का हो रहा मेडिकल जांच 
बता दें, दोनों लड़कियों ने लौटने के एक दिन बाद अपने परिवार के सदस्यों को घटना की जानकारी दी, जिसके बाद पुलिस को एक लिखित आवेदन दिया गया। शुरुआत में कुछ स्थानीय पुलिस ने मामले को दबाने की कोशिश की, लेकिन बाद में पीड़िता के पिता के अनुसार, कुछ वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद प्राथमिकी दर्ज की गई।
हालांकि, भारतीय दंड संहिता की धारा 376-डी (सामूहिक दुष्कर्म), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना), 504 (अपमानजनक) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत भाई लाल यादव, त्रिभुवन यादव और एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। सर्कल अधिकारी ने कहा कि दलितों के खिलाफ अत्याचार और यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण के आरोप भी आरोपी व्यक्तियों के खिलाफ लगाए गए हैं।
facebook twitter instagram