+

पेट्रोल -डीजल और एटीएफ के निर्यात पर बढ़ा टैक्स ,घरेलू बाजारों पर कोई असर नहीं

केंद्र सरकार ने पेट्रोल डीजल और एटीएफ के निर्यात पर छह रुपये प्रति लीटर की दर से कर लगाया है और डीजल के निर्यात पर 13 रुपये प्रति लीटर का कर लगाया गया है।
पेट्रोल -डीजल  और एटीएफ के निर्यात पर  बढ़ा टैक्स ,घरेलू बाजारों पर कोई असर नहीं
केंद्र सरकार ने  पेट्रोल डीजल  और एटीएफ के निर्यात पर छह रुपये प्रति लीटर की दर से कर लगाया है और डीजल के निर्यात पर 13 रुपये प्रति लीटर का कर लगाया गया है। घरेलू बाजार में इन उत्पादों की जरुरत को पूरा करने के लिए सरकार ने ये फैसला लिया। एक अलग सरकारी अधिसूचना में कहा गया कि सरकार ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेल की ऊंची कीमतों से उत्पादकों को होने वाले अप्रत्याशित लाभ के एवज में घरेलू रूप से उत्पादित कच्चे तेल पर 23,230 रुपये प्रति टन का अतिरिक्त कर लगाया। 
बाजारों में ईंधन का निर्यात करने पर खासा लाभ
निर्यात पर कर तेल रिफायनरी विशेषकर निजी क्षेत्र के लिए है जिन्हें यूरोप और अमेरिका जैसे बाजारों में ईंधन का निर्यात करने पर खासा लाभ मिलता है।वहीं घरेलू स्तर पर कच्चे तेल का उत्पादन करने पर लगाया गया कर स्थानीय उत्पादकों के लिए है जिन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की ऊंची कीमतों से अप्रत्याशित लाभ मिल रहा है।
facebook twitter instagram