+

रूस-यूक्रेन युद्ध को लेकर भारत चिंतित, UN में कहा- शहरी इलाकों में नागरिक ठिकाने आसानी से बन रहे निशाना

रूस और यूक्रेन के बीच चार महीने से भी ज्यादा समय से जारी युद्ध में होने वाली मौतों को लेकर भारत ने चिंता जताई है।
रूस-यूक्रेन युद्ध को लेकर भारत चिंतित, UN में कहा- शहरी इलाकों में नागरिक ठिकाने आसानी से बन रहे निशाना
रूस और यूक्रेन के बीच चार महीने से भी ज्यादा समय से जारी युद्ध में होने वाली मौतों को लेकर भारत ने चिंता जताई है। भारत ने कहा है कि, लड़ाई में शहरी इलाकों में महत्वपूर्ण नागरिक ठिकाने आसान निशाना बनते जा रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में यूक्रेन के मसले पर मंगलवार को भारत के स्थायी उप प्रतिनिधि आर. रविंद्र ने कहा कि, इस युद्ध के कारण बहुत से लोगों की जान गई है और महिलाओं, बच्चों तथा बुजुर्गों के लिए विशेष रूप से परेशानियां खड़ी हुई हैं।
लाखों लोग बेघर हो गए हैं और उन्हें पड़ोसी देशों में शरण लेनी पड़ी है
रविंद्र ने कहा कि लाखों लोग बेघर हो गए हैं और उन्हें पड़ोसी देशों में शरण लेनी पड़ी है। उन्होंने कहा, यूक्रेन की स्थिति पर भारत बेहद चिंतित है। रूस-यूक्रेन युद्ध में नागरिकों की मौत की खबरें बेहद परेशान करने वाली हैं और इस संबंध में हम अपनी चिंता व्यक्त करते हैं। हाल के वर्षों में, लड़ाई के दौरान शहरी इलाकों की महत्वपूर्ण संरचनाओं को आसानी से निशाना बनाया जा रहा है।
जेलेंस्की ने युद्ध के बाद से दूसरी बार यूएनएससी को किया संबोधित
बता दें कि, परिषद की इस बैठक को यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने भी डिजिटल माध्यम से संबोधित किया। फरवरी में युद्ध शुरू होने के बाद यह दूसरा मौका था जब जेलेंस्की ने 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद के सामने सीधे तौर पर अपनी बात रखी। इसके अलावा राजनीतिक और शांतिप्रयास मामलों की उप सचिव रोजमेरी डि कार्लो ने परिषद को बताया कि, यूक्रेन के क्रेमेनचुक शहर में रूस द्वारा मॉल पर किए गए मिसाइल हमले में 18 नागरिकों की जान चली गई और 59 घायल हो गए। उन्होंने कहा कि यह संख्या बढ़ सकती है।
facebook twitter instagram