+

भारतीय नौसेना ने विदेशों से चिकित्सा ऑक्सीजन लाने के लिए तैनात किए युद्धक पोत

भारतीय नौसेना ने विदेशों से ऑक्सीजन से भरे क्रायोजेनिक कंटेनर लाने के लिए विशेष अभियान की शुरुआत की है क्योंकि कोरोना वायरस के मामलों में बेतहाशा बढ़ोतरी के कारण देश में ऑक्सीजन की भारी किल्लत है।
भारतीय नौसेना ने विदेशों से चिकित्सा ऑक्सीजन लाने के लिए तैनात किए युद्धक पोत
भारतीय नौसेना ने विदेशों से ऑक्सीजन से भरे क्रायोजेनिक कंटेनर लाने के लिए विशेष अभियान की शुरुआत की है क्योंकि कोरोना वायरस के मामलों में बेतहाशा बढ़ोतरी के कारण देश में ऑक्सीजन की भारी किल्लत है।अधिकारियों ने बताया कि भारतीय नौसेना के युद्धक पोत शुरू में बहरीन, सिंगापुर और थाईलैंड से ऑक्सीजन लेकर आ रहे हैं।
उन्होंने बताया कि दो पोत - आईएनएस कोलकाता और आईएनएस तलवार बहरीन में मनामा बंदरगाह पर पहुंच चुके हैं जो 40 मीट्रिक टन तरल ऑक्सीजन मुंबई लाएंगे।अधिकारियों ने कहा कि एक अन्य पोत आईएनएस जलाश्व बैंकॉक रवाना हो गया है जबकि आईएनएस ऐरावत इसी मिशन के लिए सिंगापुर जा रहा है।
भारतीय नौसेना के प्रवक्ता कमांडर विवेक मधवाल ने कहा, ‘‘भारतीय नौसेना ने ऑपरेशन समुद्र सेतु द्वितीय की शुरुआत की है ताकि ऑक्सीजन की जरूरतों को पूरा करने के राष्ट्रीय मिशन को मजबूत किया जा सके।’’भारतीय नौसेना ने पिछले वर्ष ऑपरेशन समुद्र सेतु की शुरुआत वंदे भारत मिशन के तहत की थी जिसके तहत इसने मालदीव, श्रीलंका और ईरान में फंसे 4000 भारतीयों को स्वदेश लाया था।
भारतीय वायुसेना भी पिछले कुछ दिनों से दुबई और सिंगापुर से खाली क्रायोजेनिक ऑक्सीजन कंटेनर लेकर आई है ताकि ऑक्सीजन आपूर्ति के सरकार के प्रयासों को सुदृढ़ किया जा सके।
facebook twitter instagram