+

कोरोना मामलों में वृद्धि के मद्देनजर 'इंटरनेशनल बैकलॉरिएट' ने भारत में अपनी सभी परीक्षाएं की रद्द

कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर इंटरनेशनल बैकलॉरिएट ने देश में अपनी सभी परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया।
कोरोना मामलों में वृद्धि के मद्देनजर 'इंटरनेशनल बैकलॉरिएट' ने भारत में अपनी सभी परीक्षाएं की रद्द
कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर इंटरनेशनल बैकलॉरिएट (आईबी) ने देश में अपनी सभी परीक्षाएं गुरुवार को रद्द करने का फैसला किया। देश में 185 ऐसे स्कूल हैं जो आईबी के पाठ्यक्रम का अनुसरण करते हैं। विदेश में स्कूलों में दाखिला लेने के इच्छुक छात्र या जिनके अभिभावकों का दूसरे देशों में स्थानांतरण होता रहता है वे परीक्षा के लिए इस बोर्ड को चुनते हैं।
बोर्ड के मुताबिक डिप्लोमा कार्यक्रम, करियर से जुड़े कार्यक्रम और अन्य कार्यक्रमों के लिए गैर परीक्षा माध्यम को अपनाया जाएगा। ‘इंटरनेशनल बैकलॉरिएट’ ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि आईबी ने कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए स्कूलों, एसोसिएशन ओर शिक्षा बोर्ड से संवाद के बाद परीक्षाएं आयोजित नहीं करने के अपने फैसले से स्कूलों को अवगत करा दिया है।
बयान में कहा गया कि हमारा इरादा है कि मई 2021 सत्र के लिए भारत में छात्रों के परिणाम पाठ्यक्रम अंकों और अनुमानित ग्रेड का उपयोग करके देना चाहिए। अंक दिए जाने के बारे में फरवरी में बताया गया था। मई 2021 सत्र के बारे में और ज्यादा विवरण के लिए छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों को अपने स्कूल के आईबी समन्वयक से बात करना चाहिए।
केंद्र सरकार ने बुधवार को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी जबकि 12वीं की बोर्ड परीक्षा स्थगित करने का फैसला किया है।
facebook twitter instagram