+

बिना कांग्रेस के विपक्ष का कोई भी फ्रंट बनना संभव नहीं, संजय राउत राहुल गांधी से मुलाकात के बाद बोले

शिवसेना सांसद संजय राउत ने दिल्ली में आज कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ बैठक की। दोनों नेताओं के बीच काफी देर तक बातचीत हुई।
बिना कांग्रेस के विपक्ष का कोई भी फ्रंट बनना संभव नहीं, संजय राउत राहुल गांधी से मुलाकात के बाद बोले
शिवसेना सांसद संजय राउत ने दिल्ली में आज कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ बैठक की। दोनों नेताओं के बीच काफी देर तक बातचीत हुई। जब राउत से यह पूछा गया कि क्या शिवसेना यूपीए में शामिल होगी? उन्होंने कहा,  ''यह एक लंबी बैठक थी। मैं पहले उद्धव ठाकरे से मिलूंगा और फिर हम इसके बारे में बात करेंगे।'' संजय राउत ने मीटिंग के बाद साफ कह दिया कि बगैर कांग्रेस कोई भी गठबंधन बीजेपी के खिलाफ काम नहीं कर सकता। उन्होंने यह सवाल उठाया कि अगर ऐसा कोई गठबंधन बना तो कांग्रेस के साथ भी एक गठबंधन सामने आएगा। इससे बीजेपी को फायदा ही होगा।
शिवसेना के यूपीए में शामिल होने की संभावनाओं पर यह बोले संजय राउत
जब संजय राउत से सवाल किया गया कि शिवसेना यूपीए में शामिल होगी क्या? इस सवाल पर संजय राउत ने चर्चा से इनकार नहीं किया। उन्होंने यह नहीं कहा कि शिवसेना के यूपीए में शामिल होने पर चर्चा नहीं हुई। उन्होंने इतना कहा कि, ‘बताऊंगा ना…जरूर बताऊंगा लेकिन पहले मैं अपनी पार्टी के चीफ को बताऊंगा.’ मीड़िया रिपोर्टस के मुताबिक  पत्रकार ने यह सवाल दोबारा पूछा तो उन्होंने कहा कि,’शिवसेना महाराष्ट्र में तो यूपीए में शामिल ही है ना. महाराष्ट्र तो देश में ही है ना. महराष्ट्र मं मिनी यूपीए तो बना हुआ ही है।
यूपीए को मजबूत करने को लेकर हुई चर्चा ‘
फिर खुद ही संजय राउत ने कहना शुरू कर दिया कि राहुल गांधी से उनकी चर्चा यूपीए को मजबूत करने के उपायों को लेकर हुई। उन्होंने कहा कि, ‘राहुल गांधी से जो चर्चा हुई वो यूपीए को मजबूत करने के लिए क्या किया जा सकता है, इस बात पर हुई. कांग्रेस के बिना कोई भी गठबंधन संभव नहीं है। अगर कोई फ्रंट बनाएगा तो कांग्रेस के नेतृत्व में कोई दूसरा फ्रंट भी काम करेगा ना. फिर फायदा किसको होगा? फिर तो विपक्ष कमजोर ही होगा ना. थर्ड फ्रंट, फोर्थ फ्रंट, सेकंड फ्रंट यह तो कोई बात नहीं हुई। एक ही फ्रंट बनेगा। एक ही फ्रंट बनना चाहिए। कांग्रेस को अलग रख कर कोई फ्रंट बनाने का मतलब नहीं।
थर्ड फ्रंट, फोर्थ फ्रंट का कोई मतलब नहीं, एक ही फ्रंट बनना चाहिए’
ममता बनर्जी की राय से शरद पवार इत्तिफाक नहीं रखते हैं। वे लगातार यह कहते रहे हैं कि कोई भी गठबंधन कांग्रेस को अलग रख कर काम नहीं करेगा। यह बात उन्होंने ममता बनर्जी के सामने भी कही। लेकिन पिछले हफ्ते मुंबई दौरे पर ममता बनर्जी ने मीडिया से कहा था कि यूपीए आज कहां है? बिना राहुल गांधी का नाम लिए उन्होंने कहा था कि साल में आधा वक्त विदेश में बिता कर राजनीति नहीं होती।
विपक्षी पार्टियों में फूट के सवाल पर यह बोले संजय राउत
इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए जब पत्रकारों ने संजय राउत से पूछा कि विपक्ष में फूट पड़ गई है क्या? ममता जी अलग बात करती हैं शरद पवार अलग बात करते हैं? इस पर संजय राउत ने कहा कि, ‘मैंने पहले भी कहा है कि कांग्रेस के बिना बीजेपी के खिलाफ मजबूत विपक्ष संभव नहीं है। राहुल जी मुंबई आ रहे हैं। मैंने राहुल जी से कहा है कि आपको अब इस बारे में लीड लेना चाहिए। शरद पवार संबसे अनुभवी नेता हैं। वे जो फैसला लेते हैं। सोच समझ कर लेते हैं।’
facebook twitter instagram