+

कोहली को आउट करना बेहद मुश्किल, उनपर हावी होने के लिए मजबूत व्यक्तित्व होना जरूरी: एडम जम्पा

स्पिनर ने कहा "मैंने उन्हें अब कई बार आउट कर दिया है लेकिन मुझे नहीं लगता कि इसमें ज्यादा कुछ देखा जा सकता है वह अब भी मेरे खिलाफ 100 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं।"
कोहली को आउट करना बेहद मुश्किल, उनपर हावी होने के लिए मजबूत व्यक्तित्व होना जरूरी: एडम जम्पा
राजकोट : आस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर एडम जम्पा ने सीमित ओवरों में भारतीय कप्तान विराट कोहली पर दबदबा बनाने के बावजूद कहा कि कोहली को आउट करना बेहद मुश्किल है। उन्होंने  यह भी कहा कि भारतीय कप्तान विराट कोहली जैसे खिलाड़ी को गेंदबाजी करना बहुत मुश्किल है और उन पर हावी होने के लिये मजबूत व्यक्तित्व का होना जरूरी है, हालांकि जम्पा ने सीमित ओवरों के क्रिकेट में अभी तक कोहली को छह बार आउट कर चुके हैं। 

दूसरे वनडे से पहले जम्पा ने कहा, ‘‘मेरी गेंदबाजी आक्रामक होगी। मुझे लगता है कि अगर आप बैकफुट पर हों और आप रक्षात्मक होना चाहते हो तो कोहली आपके ऊपर हावी हो सकता है। भारत में इन शानदार खिलाड़ियों के खिलाफ खेलने के लिये सबसे अहम चीज है कि आपमें थोड़ा जज्बा होना चाहिए। ’’ जम्पा ने वनडे में कोहली को चार बार और टी20 में दो बार आउट किया है। मुंबई में मंगलवार को श्रृंखला के शुरूआती मैच में जम्पा ने अपनी ही गेंद पर तेज कैच लपककर कोहली को आउट किया था। 

सत्ताईस साल के स्पिनर ने कहा, ‘‘आप शायद जानते हो कि आपकी गेंद पर बाउंड्री लगेंगी लेकिन आप इससे प्रभावित होते हो तो यह आपके लिये बुरा हो सकता है। मैंने उन्हें अब कई बार आउट कर दिया है लेकिन मुझे नहीं लगता कि इसमें ज्यादा कुछ देखा जा सकता है। वह अब भी मेरे खिलाफ 100 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं। ’’ जम्पा ने 49 मैचों में 66 वनडे विकेट झटके हैं। उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें गेंदबाजी करना काफी मुश्किल है। मैंने अब तक जिन मुश्किल खिलाड़ियों को गेंदबाजी की है, वह उनमें से एक है। पहले वनडे के बाद वह और खुलकर खेलेगा। यह एक बड़ी चुनौती होने वाली है। ’’ 

कोहली ने हाल में जम्पा की तारीफों के पुल बांधे थे, इस बाबत पूछने पर उन्होंने कहा, ‘‘यह विराट से मिली बहुत अच्छी तारीफ है। मैं दुनिया के बेहतरीन लेग स्पिनरों में से एक नहीं हूं। कुलदीप यादव और राशिद खान जैसे गेंदबाजों को खेलना सचमुच काफी कठिन है। लेकिन मैं हमेशा कोशिश करता हूं कि मैं मजबूत जज्बे वाला खिलाड़ी बनूं। 
facebook twitter