राम रहीम को राखियां और बधाई संदेश से जेल प्रशासन मुसीबत में फंसा

रोहतक : जमानत या​चिका खारिज होने के बाद डेरा प्रमुख का विवादों से नाता नहीं छूट रही है। सुनारिया जेल प्रशासन अब उनको आ रही डाक से परेशान नजर आ रहे है। राम रहीम के नाम आ रहीं चिट्ठियों और राखियों की वजह से पैदा हुई है। गुरमीत के लिए रक्षाबंधन पर राखियां और उसके जन्मदिन के बधाई संदेश वाली चिट्ठयां हजारों की संख्या में पहुंच रही हैं। यहां डाकघर में रोजाना हजारों की संख्या में डाक पहुंच रही हैं, जिनको जेल में भेजा जाता है। 

अतिरिक्त वर्कलोड के चलते कर्मचारी ओवर टाइम कर रहे हैं। बता दें कि गुरमीत राम रहीम सुनारिया जेल में दो साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में 20 साल की कैद और पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा है। 15 अगस्त को गुरमीत का जन्मदिन है और इसी दिन रक्षाबंधन का त्योहार भी है। डेरामुखी के नाम पर रोजाना हजारों की संख्या में राखियां और जन्मदिन के बधाई संदेश वाली चिट्ठियां सुनारिया के पुलिस ट्रेनिंग सेंटर स्थित उप डाकघर में पहुंच रही हैं। इससे डाकघर में तैनात कर्मचारियों के लिए मुकिश्ल खड़ी हो गई है। 

डाक घर से रोजाना बोरों में डाक पंहुच रही है एक-एक डाक का रिकार्ड कंप्यूटर में दर्ज करना पड़ता है। इसके बाद सूची तैयार कर जेल प्रशासन को भेजी जाती है। डाक घर से रोजाना दो कर्मचारी बोरों में डाक भरकर जेल प्रशासन तक पहुंचते हैं। उधर, जेल प्रशासन के लिए भी बड़ी मुकिश्ल पैदा हो गई है। जेल प्रशासन को प्रत्येक डाक की गहनता से जांच करनी पड़ रही है।
Tags : ,Jail administration,greetings,Ram Rahim