जाट फिर आंदोलन की तैयारी में

रोहतक : अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा कि जाट आरक्षण आंदोलन की कुछ मांगे अभी भी लंबित हैं, जिन पर सरकार ध्यान नहीं दे रही है। सरकार की अनदेखी को लेकर पूरे प्रदेश में भाईचारा न्याय यात्रा के माध्यम से जनजागरण अभियान चलाया जाएगा। इस दौरान सभी विधायकों के साथ-साथ सीएम को भी ज्ञापन दिया जाएगा। 

सरकार का रूख देखते हुए 22 फरवरी को सोनीपत के लाठ-जौली में होने वाली शहीद रैली में आगामी आंदोलन की घोषणा की जाएगी। राष्ट्रीय अध्यक्ष जसिया के छोटूराम धाम में भाईचारा न्याय यात्रा को हरी झंडी दिखाने के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आंदोलन के समय प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार के मंत्रियों के साथ कई मांगों को लेकर समझौता हुआ था। 

जिसकी कुछ मांगें पूरी हो गई हैं, लेकिन अभी भी हरियाणा के जाटों को ओबीसी श्रेणी में आरक्षण और आंदोलन के दौरान दर्ज हुए सभी केसों की वापसी नहीं हुई है। सरकार से बार-बार मांग पूरी करने की बात कही जा रही है। सरकार की वादाखिलाफी को लेकर भाईचारा न्याय यात्रा शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से जन जागरण अभियान चलाया जाएगा। 

रैली प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्रों में जाकर विधायकों को ज्ञापन देगी और सीएम को भी ज्ञापन दिया जाएगा। रैली का समापन 22 फरवरी को सोनीपत के लाठ जौली में होने वाली शहीद रैली में होगा। भाईचारा न्याय यात्रा के बाद देखा जाएगा कि सरकार का क्या रूख है। इसके बाद भी यदि सरकार उनकी मांगों को पूरा नहीं करती तो शहीद रैली में आंदोलन की घोषणा कर दी जाएगी। हालांकि आंदोलन का स्वरूप शांतिपूर्ण रहेगा, लेकिन सरकार का विरोध किया जाएगा।
Tags : Chhattisgarh,Congress,Raipur,रमन सरकार,Raman Sarkar,Tribal Department,Pathargarh agitation ,Jat,Yashpal Malik,reservation struggle committee,government