शिअद समेत सरबत खालसा के जत्थेदार दादूवाल और सिख संगत ने कार्यवाही की मांग की

लुधियाना-हरिकेपतन : पंजाब के सीमावर्ती इलाके हलका पटटी से कांग्रेसी विधायक हरमिंद्र सिंह गिल द्वारा पिछले दिनों एक समागम के दौरान दिए गए बयान की हरिकेपतन झील को विकसित किया जाएंगा, पंजाब सरकार द्वारा करोड़ों रूपए के प्रोजेक्ट के साथ इसको सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र बनाया जाएंगा। 

उन्होंने यह भी कहा था कि श्री दरबार साहिब अमृतसर में आने वाले लाखों श्रद्धालुओं का मुंह मोडक़र हरिके पतन की तरफ किया जाएंगा और वह हरिके पतन आकर मछली भी खाएंगे, के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद विधायक हरमिंद्र सिंह गिल की तीखी आलोचना हुई है, इसी बयान को लेकर शिरोमणि अकाली दल की तरफ से हरमिंद्र सिह गिल के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गई। जबकि संगत को दरबार साहिब श्री अमृतसर साहिब से अलग कर हरिके पतन लाकर मछली खिलाने संबंधी हरमिंद्र सिंह गिल द्वारा दिए गए बयान में सिख हृदयों को दुखी किया है। उक्त विचारों का प्रकटावा सरबत खालसा के जत्थेदार भाई बलजीत सिंह खालसा दादूवाल ने जारी एक बयान में कहा कि जेल काट चुके सिख आगु के मुंह सेस ऐसे बयान सुनना हैरानी जनक है।  

अपने इसी बयान को लेकर अब विधायक हरमिंद्र सिंह गिल ने संगत से माफी मांगी है। उन्होंने बातचीत करते कहा कि मैं स्वप्र में भी श्री हरिमंदिर साहिब की बराबरी किसी के साथ नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि मैंने जो कुछ भी अब तक हासिल किया है, वह सबकुछ गुरू घर से ही हासिल हुआ है। गिल ने कहा कि मैं स्वयं अंडे-मीट-शराब का सेवन नहीं करता लेकिन अगर मेरे से जाने-अनजाने में कोई गलती हुई है तो मैं संगत से माफी मांगता हूं।

स्मरण रहे कि पिछले दिनों पटटी से कांग्रेसी विधायक हरमिंद्र सिंह गिल एक समारोह के दौरान हरिके पतन में लोगों को संबोधित कर रहे थे, इसी दौरान वह इतने अधिक भावुक हो गए कि बैठे-बिठाएं ऐसा बयान दे दिया जिस कारण सिख संगत में काफी रोष पाया जा रहा है। गिल ने अपने संबोधन में कहा था कि जो एक लाख श्रद्धालु हरिमंदिर साहिब अमृतसर में गुरू घर नतमस्तक होने आते है, उनका मुंह हरि के पतन की तरफ किया जाएंगा, ताकि श्रद्धालु हरिके पतन रूख कर वहां की मछलियां खाया करेंगे, जिसके साथ दुनिया उत्तर भारत की प्रसिद्ध झील में सैर सपाटे के लिए आएंगी और हरिके इलाके में कारोबार काफी बढ़ेगा। 

उल्लेखनीय है कि हलका विधायक गुरू सिख है और गुरू सिख परिवार से संबंधित होने के साथ-साथ पूर्व जत्थेदार ज्ञानी दलीप सिंह जी के पुत्र भी है। वह ज्ञानी जी दीवान हाल गुरूद्वारा मंझी साहिब से गुरबाणी की कथा करते रहे है। 

 - सुनीलराय कामरेड
Tags : Punjab Kesari,DRDO,Supersonic cruise missile,BrahMos Advanced,HyperSonic capability,ब्रह्मोस उन्नत ,Daduwal,Sangat,Sikh,Sarbat Khalsa,SAD,lake,Punjab,MLA,meeting,border area,Harikepatan,government,Harmindra Singh Gill,Congress,center