जत्थेदार दादूवाल 23 अक्तूबर तक न्यायिक हिरासत में

लुधियाना-तलवंडी साबो : बठिण्डा के सिविल लाइन क्लब और गुरूनानक लाइब्रेरी के प्रबंधकों के मध्य आपसी विवाद के चलते सरबत खालसा के जत्थेदार भाई बलजीत सिंह और उनके तीनों गिरफ्तार साथियों को देर शाम नायब तहसीलदार के सामने पेश किया गया। जहां दादूवाल को 23 अक्तूबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

स्मरण रहे कि जत्थेदार दादूवाल को तख्त श्री दमदमा साहिब पर वापिसी के वक्त एसपीएच बठिण्डा सुरिंद्रपाल सिंह अगुवाई में पुलिस पार्टी ने जत्थे के तीन साथी गुरिंद्र सिंह, कुलबीर सिंह और गुरसेवक सिंह समेत हिरासत में लिया था। जत्थेदार को पहले तलवंडी साबो के यात्री निवास और फिर पुलिस स्टेशन नंदगढ़ ले जाया गया, जहां शाम को एसडीएम तलवंडी साबो की अदालत में पेश करने के लिए भारी सुरक्षा बंदोबस्त के तहत लाया गया, लेकिन 2 घंटे के वक्त बीत जाने और गाड़ी में ही बिठाए रखने उपरंात इलाका तहसीलदार जगतार सिंह की अदालत में पेश किया गया। इस गिरफतारी के लिए दादूवाल  ने वितमंत्री मनप्रीत सिंह बादल को जिम्मेदार ठहराया। 

पेशी के अवसर पर अदालत द्वारा प्रति व्यक्ति एक लाख के व्यकितगत मुचलका भरने उपरांत उनको जमानत दिए जाने का हुकम दिया। लेकिन जमानत की समूची प्रक्रिया मुकम्मल करने तक नायब तहसीलदार के पास उनकी जमानत याचिका लगाई गई तो उन्होंने जमानत याचिका खारिज करके दादूवाल और तीनों साथियों को 23 तक की न्यायिक हिरासत में भेजने का हुकम सुना दिया। यह भी पता चला कि दादूवाल को बठिण्डा जेल में भेजा गया है और जेल भेजने की पुष्टि डीएसपी नरेंद्र सिंह ने कर दी है।

-  सुनीलराय कामरेड 
Tags : Punjab Kesari,DRDO,Supersonic cruise missile,BrahMos Advanced,HyperSonic capability,ब्रह्मोस उन्नत ,Daduwal,Baljit Singh,Sarbat Khalsa,Naib Tehsildar,Bathinda,Civil Line Club,managers,dispute,Guru Nanak Library