+

Jharkhand News : सरकार का इस्तीफा मांग रहे चार BJP विधायक तीन दिनों के लिए निलंबित

झारखंड विधानसभा में हेमंत सोरेन सरकार पर तमाम तरह के भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर सरकार के इस्तीफे की मांग कर रहे।
Jharkhand News :  सरकार का इस्तीफा मांग रहे चार BJP विधायक तीन दिनों के लिए निलंबित
झारखंड विधानसभा में हेमंत सोरेन सरकार पर तमाम तरह के भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर सरकार के इस्तीफे की मांग कर रहे। भाजपा के चार विधायकों को विधानसभाध्यक्ष रवीन्द्र नाथ महतो ने तीन दिन के लिए सदन से निलंबित कर दिया।आज झारखंड विधानसभा की कार्यवाही सुबह ग्यारह बजे प्रारंभ होते ही भाजपा के विधायकों ने हेमंत सोरेन सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया और आसन के समक्ष आकर नारेबाजी करने लगे।
भाजपा विधायकों का आरोप  
भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री बी पी शाही के नेतृत्व में ‘भ्रष्ट मुख्यमत्री हेमंत सोरेन इस्तीफा दो’ के नारे लगा रहे थे। भाजपा विधायक इस बात पर अड़े रहे कि भ्रष्टाचार के मामले पर सदन में विशेष चर्चा करायी जाये।भाजपा विधायकों का आरोप था कि मुख्यमंत्री के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भ्रष्टाचार के मामलों में गिरफ्तार कर लिया है और उनके पास से करोड़ों की नकदी बरामद हुई है, जबकि मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार अभिषेक प्रसाद उर्फ पिंटू को पूछताछ के लिए सोमवार को बुलाया गया था और वह ईडी में पेश होने से बच रहे हैं।
 मुख्यमंत्री को अपने पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं 
भाजपा विधायकों ने आरोप लगाया कि इस स्थिति में मुख्यमंत्री को अपने पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। भाजपा विधायकों ने तत्काल मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनकी सरकार के इस्तीफे की मांग की।विधानसभाध्यक्ष रवीन्द्र नाथ महतो ने विधायकों को बहुत समझाने की कोशिश की और उन्हें अपने स्थान पर जाने तथा प्रश्नकाल चलने देने का आग्रह किया। लेकिन जब भाजपा विधायक नहीं माने तो विधानसभाध्यक्ष ने चार भाजपा विधायकों बी पी शाही, ढुल्लू महतो, रणधीर सिंह और जयप्रकाश भाई पटेल को तीन दिप के लिए सदन से निलंबित कर दिया।
पूर्व भाजपा विधायकों के हंगामे के बीच कांग्रेस विधायक प्रदीप यादव ने कहा
विधानसभाध्यक्ष के इस फैसले पर भाजपा विधायक और उग्र हो गये तथा उन्होंने जमकर हंगामा किया और ‘भ्रष्ट सरकार इस्तीफा दो’ के नारे लगाते रहे। हंगामा बढ़ता देख विधानसभाध्यक्ष रवीन्द्र नाथ महतो ने सदन की कार्यवाही दोपहर साढ़े बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दी।
झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र पांच अगस्त तक निर्धारित है और आज के विधानसभाध्यक्ष के फैसले के चलते भाजपा के चारों विधायक चार अगस्त तक निलंबित रहेंगे ।इससे पूर्व भाजपा विधायकों के हंगामे के बीच कांग्रेस विधायक प्रदीप यादव ने कहा कि वे लोग भ्रष्टाचार की बात कर रहे हैं जिनके सरकार में मंत्री रहे सरयू राय ने उसी सरकार में हुए भ्रष्टाचार पर किताब लिख दी है।
भाजपा विधायकों को समझाने की पूरी कोशिश की 
विधायकों को निलंबित करने से पहले विधानसभाध्यक्ष ने भाजपा विधायकों को समझाने की पूरी कोशिश की लेकिन जब अध्यक्ष के आसन के समक्ष आकर भाजपा विधायक समानांतर सदन चलाने लगे तो अध्यक्ष ने उन्हें निलंबित कर दिया और सदन से बाहर जाने के निर्देश दिये।भाजपा विधायकों के निलंबन पर पूर्व विधानसभाध्यक्ष एवं रांची से भाजपा विधायक चंद्रेश्वर प्रसाद सिंह ने कहा, ‘‘यह लोकतंत्र की हत्या है और विधायकों की आवाज दबाकर हेमंत सोरेन सरकार अपने भ्रष्टाचार के पापों को छिपा नहीं सकती है।’’

facebook twitter instagram