+

सुपर ओवर में नीशम के छक्का लगाते ही थम गई उनके बचपन के कोच की सांसें

आईसीसी विश्व कप का फाइनल मैच बहुत ही रोमांच भरा था। विश्व कप का फाइनल मैच टाई हुआ था जिसके बाद सुपर ओवर खेला गया और इसमें नीशम ने छक्का लगाया था
सुपर ओवर में नीशम के छक्का लगाते ही थम गई उनके बचपन के कोच की सांसें
आईसीसी विश्व कप का फाइनल मैच बहुत ही रोमांच भरा था। विश्व कप का फाइनल मैच टाई हुआ था जिसके बाद सुपर ओवर खेला गया और इसमें नीशम ने छक्का लगाया था जिसके बाद उनके टीचर और मेंटॉर की मृत्यु हो गई। 


न्यूजीलैंड के ऑलराउंडर जिमी नीशम ने विश्व कप के सुपर ओवर में छक्का लगाने के बाद ऑकलैंड ग्रामर स्कूल के पूर्व शिक्षक और कोच जेेम्स गोर्डन का स्वर्गवास हो गया। विश्व कप 2019 के फाइनल मैच में न्यूजीलैंड को बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड ने हराया और पहली बार विश्व चैंपियन बनीं। गोर्डन की बेटी लियोनी ने बताया कि नीशम ने सुपर ओवर की दूसरी गेंद पर जैसे ही छक्का लगाया उनके पिता की सांसें ही थम गईं। 


खबरों के अनुसार, लियोनी ने कहा, सुपर ओवर के दौरान एक नर्स आई और उन्होंने कहा कि मेरे पिता की सांसें रुक रही हैं। मैं समझती हूं कि नीशम ने छक्का मारा और मेरे पिता ने आखिरी सांसें ली। लियोनी ने आगे बात करते हुए कहा, उनका सेंसे ऑफ ह्यूमर विचित्र था और वह बहुत दिलचस्प आदमी थे। उन्हें बहुत अच्छा लगा होगा कि नीशम ने छक्का मारा। 


गुरुवार को ट्विटर पर नीशम ने ट्वीट करते हुए लिखा, डेव गोर्डन मेरे हाई स्कूल के शिक्षक, कोच और दोस्‍त। इस खेल का आपका प्यार बहुत जबरदस्त था, खासकर उनके लिए जिन्हें आपके मार्गदर्शन में खेलने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। मैच समाप्त होने तक आपने अपनी सांसें रोके रखीं, आशा है कि आपको गर्व हुआ होगा। आपका धन्यवाद, भगवान आपकी आत्मा को शांदी दे। 

नीशम के गोर्डन को श्रद्धांजलि देने पर लियोनी बहुत खुशी हुई है। नीशम, लॉकी फर्ग्युसन और बाकी खिलाड़ियों को गोर्डन ने हाई स्कूल के दौरान कोचिंग दी है। स्कूल में क्रिकेट और हॉकी के वह 25 सालों तक कोच रहे थे। 
Tags : ,Neesham,stay,super over,childhood coach,rest
facebook twitter