सुरक्षा बलों के खिलाफ ‘अप्रमाणित आरोपों’ पर जितेंद्र सिंह ने की कार्यकर्ताओं की आलोचना

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने “संकीर्ण और अल्पकालिक राजनीतिक लाभ” के लिये सुरक्षा बलों पर अप्रमाणित आरोप लगाने के लिये सोमवार को कुछ कार्यकर्ताओं की निंदा की। एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (केरिपुब) के विशेष महानिदेशक (जम्मू-कश्मीर जोन) जुल्फिकार हसन जब यहां उनसे मुलाकात के लिये पहुंचे तो उन्होंने यह बात कही। 

विज्ञप्ति में कहा गया कि सिंह ने कुछ कार्यकर्ताओं की आलोचना की जिन्होंने “महज संकीर्ण और अल्पकालिक राजनीतिक फायदों के लिये सुरक्षा बलों के खिलाफ अप्रमाणित आरोप लगाए।” प्रधानमंत्री कार्यालय में केंद्रीय मंत्री सिंह ने कहा कि ऐसे स्वार्थी कार्यकर्ता पाप करने के दोषी हैं जिसके लिये कोई माफी नहीं है।  

उन्होंने कहा कि सरकार सिर्फ आतंकवादियों के खिलाफ ही नहीं बल्कि उनके प्रवर्तकों और स्वयंभू प्रचारकों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई के लिये प्रतिबद्ध है। हसन ने सिंह को जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों के निरस्त किए जाने के बाद की स्थिति से अवगत कराया। 

केरिपुब अधिकारी ने मंत्री को बताया कि पांच अगस्त के फैसले के बाद स्थिति पूर्णत: सामान्य है और हिंसा की कोई बड़ी घटना नहीं हुई। उन्होंने उन खबरों को निराधार बताया कि कश्मीर में कर्फ्यू लगा है। उन्होंने कहा कि घाटी के किसी भी हिस्से में एक दिन के लिये भी कर्फ्यू नहीं लगा। 

Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Jitendra Singh,activists,security forces