न्यायमूर्ति जितेन्द्र कुमार माहेश्वरी ने ली आंध्रप्रदेश के मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ

न्यायमूर्ति जितेन्द्र कुमार माहेश्वरी ने सोमवार को आंध्र प्रदेश के मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ ली। राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन ने विजयवाड़ा में आयोजित एक समारोह में न्यायमूर्ति माहेश्वरी को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। मुख्य समारोह के बाद राज्यपाल को तुम्मालापल्ली वारी क्षेत्रेय कलाक्षेत्रम के वीआईपी कक्ष में न्यायमूर्ति माहेश्वरी को दोबारा शपथ दिलानी पड़ी क्योंकि उन्होंने पहले समारोह के दौरान आंध्रप्रदेश की जगह भूलवश ‘‘मध्यप्रदेश का मुख्य न्यायामूर्ति’’ पढ़ दिया था। 

वीआईपी कक्ष में जब भूल सुधार हुआ तब मुख्यमंत्री वाई एस आर जगनमोहन रेड्डी, हाई कोर्ट के न्यायाधीश तथा राज्य के मुख्य सचिव एल वी सुब्रमण्यम मौजूद थे। राज्यपाल के सचिव मुकेश कुमार मीना ने शपथ ग्रहण के दौरान हुई चूक के बारे में बताया और फिर इसे सुधारा गया। आंध्रप्रदेश में नियुक्ति से पहले न्यायमूर्ति माहेश्वरी मध्यप्रदेश हाई कोर्ट में न्यायाधीश के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे थे। 

बहन अपने चार साल के भाई को खींच लाई मौत के मुंह से बाहर, गुलदार ने किया था हमला

पिछले साल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने न्यायमूर्ति माहेश्वरी को आंध्रप्रदेश हाई कोर्ट के पहले नियमित मुख्य न्यायाधीश के तौर पर नियुक्त किए जाने का आदेश जारी किया। विभाजन के बाद साल एक जनवरी को आंध्रप्रदेश को अलग हाई कोर्ट मिला और वहां राजधानी अमरावती में एक अस्थायी परिसर में हाई कोर्ट का कामकाज शुरू हुआ। अब तक न्यायमूर्ति सी प्रवीण कुमार ने कार्यवाहक मुख्य न्यायामूर्ति के तौर पर जिम्मेदारी संभाल रखी थी। 
Tags : Badrinath,चारधाम यात्रा,बद्रीनाथ,हिमपात,Snow,भीषण ठंड,Kedarnath Dham,केदारनाथ धाम,Chardham Yatra,Gruzing cold ,Jitendra Kumar Maheshwari,Jaganmohan Reddy,Chief Justice,Andhra Pradesh,LV Subramaniam,VIP room