+

कमलनाथ ने CM शिवराज को बॉलीवुड में अपनी किस्मत अजमाने की दी सलाह, कहा- 'एक्टिंग' करने में बहुत आगे हैं

कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ ने सोमवार को कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 'एक्टिंग' (अभिनय) करने में बहुत आगे हैं।
कमलनाथ ने CM शिवराज को बॉलीवुड में अपनी किस्मत अजमाने की दी सलाह, कहा- 'एक्टिंग' करने में बहुत आगे हैं
कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ ने सोमवार को कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 'एक्टिंग' (अभिनय) करने में बहुत आगे हैं और उन्हें सलाह दी है कि बॉलीवुड में अपनी किस्मत आजमाएं एवं प्रदेश का गौरव बढ़ाएं।
कमलनाथ ने बड़वानी में पार्टी द्वारा आयोजित आदिवासी अधिकार जन आक्रोश रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक्टिंग करने में बहुत आगे हैं।’’ उन्होंने मुख्यमंत्री चौहान को सलाह देते हुए कहा, ‘‘ वह (चौहान) मुंबई चले जाएं और वहां जाकर एक्टिंग करें।
ऐसा करने से वे अभिनय के क्षेत्र में प्रदेश का गौरव बढ़ाएंगे।’’ कमलनाथ ने कहा, ‘‘ प्रदेश में आदिवासी समाज की स्थिति लगातार गिरती जा रही है लेकिन चौहान की आंखें खुली होने के बावजूद वह कुछ देखते नहीं और कान खुले होने के बावजूद वह कुछ सुनते नहीं, वह तो केवल बोलते हैं।’’
कांग्रेस नेता ने कहा कि भाजपा के शासनकाल में आज मध्य प्रदेश की स्थिति बहुत विकट हो गई है। कमलनाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान ने पिछले दो साल में 4,000 घोषणाएं कीं। इससे पहले वे लगातार 13 साल मुख्यमंत्री रहे और उन्होंने इन 13 सालों में 22,000 घोषणाएं कीं, लेकिन उन्हें पूरा नहीं किया।
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, '' चौहान ने हर महीने एक लाख नौकरियां देने का वादा किया था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर साल दो करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा किया था। मैं आपसे पूछता हूं कि ये रोजगार कहां हैं, नौकरियां कहां हैं।''
कमलनाथ की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने भोपाल में मीडिया से कहा, ‘‘कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस की पिछली 15 माह की सरकार को देश और समाज के सभी वर्गों ने देखा है। कमलनाथ ने किसानों, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति से लेकर हर वर्ग को धोखा दिया।’’
उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘आज कमलनाथ आदिवासी जनअधिकार यात्रा निकाल रहे हैं। वह केवल ‘धोखा यात्रा’ है, क्योंकि कमलनाथ जब मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने आदिवासियों के हक और अधिकार को लूटने का काम किया। कमलनाथ की जनअधिकार यात्रा सिर्फ नौटंकी है।’’
facebook twitter instagram