+

कंगना रनौत ने वीडियो शेयर कर जताया अपना दुख, कहा मुझ पर अत्याचार किए जा रहे हैं

कंगना ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में उन्होंने बताया कि उनका शोषण हो रहा है और उन्हें परेशान किया जा रहा है। कंगना ने वीडियो में कहा, 'जब से मैंने देश के हित की बात की है मुझ पर अत्याचार किए जा रहे हैं, मेरा शोषण किया जा रहा है। वो सारा देश देख रहा है। गैरकानूनी तरीके से मेरा घर तोड़ दिया गया।
कंगना रनौत ने वीडियो शेयर कर जताया अपना दुख, कहा मुझ पर अत्याचार किए जा रहे हैं
बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल काफी समय से विवादों में फंसे हुए है। कंगना पर तो आए दिन कोई ना कोई केस दर्ज हो ही जाता है। अभी भी कंगना और रंगोली बांद्रा पुलिस थाने में बयान दर्ज करवाकर आए है।


उन पर समाज में नफरत फैलाने का आरोप था। जिसके बाद बांद्रा की एक अदालत ने पुलिस को मामला दर्ज करने का आदेश दिया था। अदालत के आदेशानुसार मुंबई पुलिस ने कंगना और रंगोली को समन भेजकर थाने आकर अपना बयान दर्ज करने को कहा, लेकिन दोनों बहनें अलग वजह बताते हुए थाने में हाजिर नहीं हुईं।


मुंबई पुलिस ने कंगना और उनकी बहन को दो बार समन भेजा था। वहीं कंगना ने बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर कर उनके और रंगोली के खिलाफ दर्ज इस एफआईआर को रद्द करने की अपील की थी, लेकिन हाईकोर्ट ने उनकी इस याचिका को स्वीकार नहीं किया और आज दोपहर 12 से 2 बजे के बीच बांद्रा पुलिस स्टेशन में हाजिर होकर अपना बयान दर्ज करवाने को कहा।


वहीं अब कंगना ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में उन्होंने बताया कि उनका शोषण हो रहा है और उन्हें परेशान किया जा रहा है। कंगना ने वीडियो में कहा, 'जब से मैंने देश के हित की बात की है मुझ पर अत्याचार किए जा रहे हैं, मेरा शोषण किया जा रहा है। वो सारा देश देख रहा है। गैरकानूनी तरीके से मेरा घर तोड़ दिया गया। किसानों के हित में बात करने पर ना जाने कितने केस मुझ पर ड़ाले जा रहे हैं। यहां तक की मुझ पर हंसने पर भी केस हुआ है।'


कंगना ने वीडियो में आगे कहा, 'मेरी बहन रंगोली जिन्होंने कोरोना काल की शुरुआत में डॉक्टरों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाई थी। उस केस में मेरा भी नाम डाल दिया गया है जबकि मैं उस समय ट्विटर पर थी भी नहीं। ऐसा होता नहीं लेकिन ऐसा किया गया। जो हमारे सम्मानित न्यायधीश हैं उन्होंने उस चीज को रद्द भी किया और उन्होंने कहा कि इस केस का कोई तुक नहीं है। उसके साथ ही मुझे डराया गया कि मुझे पुलिस स्टेशन पर जाकर हाजरी लगानी पड़ेगी। मुझे कोई बता नहीं रहा है कि ये किस तरह की हाजरी है और मुझे ये भी कहा गया है कि अपने साथ हो रहे इन अत्याचारों को किसी को ना बताऊं।'


कंगना में आगे कहा, 'मैं सम्मानित सुप्रीम कोर्ट से पूछना चाहती हूं कि क्या ये मध्यकालीन युग है, जहां पर महिलाओं को जिंदा जलाया जाता है जो किसी से कुछ बोल भी नहीं सकती हैं। इस तरह के अत्याचार सारी दुनिया के सामने हो रहे हैं। आज जो लोग ये तमाशा देख रहे हैं मैं उनसे ये कहना चाहती हूं कि जिस तरह खून के आंसू हजार साल की गुलामी में सहे हैं वो फिर से सहने पड़ेंगे, अगर राष्ट्रवादी आवाजों को चुप करवा दिया गया तो।' सोशल मीडिया पर कंगना रनौत का ये वीडियो अब वायरल हो रहा है।
बॉलीवुड केसरी :
facebook twitter instagram