+

कंगना का शिवसेना पर वार, कहा- क्रूरता और अन्याय कितने भी शक्तिशाली हो, जीत भक्ति की ही होती है

कंगना ने कहा कि क्रूरता और अन्याय कितने भी शक्तिशाली क्यों न हो आखिर में जीत भक्ति की ही होती है। बयान से यह स्पष्ट है कि कंगना ने बिना नाम लिए फिर ठाकरे सरकार पर हमला बोल दिया है।
कंगना का शिवसेना पर वार, कहा- क्रूरता और अन्याय कितने भी शक्तिशाली हो, जीत भक्ति की ही होती है
सुशांत सिंह राजपूत केस में लगातार सुर्खियों में रही अभिनेत्री कंगना रनौत और शिवसेना नेता संजय राउत के बीच बयानबाजी का दौर जारी है। वहीं बीएमसी ने उपनगरीय बांद्रा में कंगना के पाली हिल स्थित बंगले में उसकी (नगर निकाय की) मंजूरी के बिना कथित तौर पर किये गये अवैध निर्माण को बुधवार सुबह ध्वस्त कर दिया था। जिसके बाद कंगना शिवसेना सरकार पर लगातार हमलावर है।
इसी कड़ी में शनिवार को कंगना ने कहा कि क्रूरता और अन्याय कितने भी शक्तिशाली क्यों न हो आखिर में जीत भक्ति की ही होती है। बयान से यह स्पष्ट है कि कंगना ने बिना नाम लिए फिर ठाकरे सरकार पर हमला बोल दिया है।
कंगना ने ट्ववीट कर कहा कि "सुप्रभात दोस्तों यह फोटो सोमनाथ टेम्पल की है, सोमनाथ को कितने दरिंदों ने कितनी बार बेरहमी से उजाड़ा, मगर इतिहास गवाह है क्रूरता और अन्याय कितने भी शक्तिशाली क्यों न हो आखिर में जीत भक्ति की ही होती है, हर हर महादेव।" 
बता दें कि कंगना ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से शुक्रवार को कहा कि उन्हें अभिनेत्री के साथ किए गए महाराष्ट्र सरकार के व्यवहार के मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए और महिलाओं का उत्पीड़न रोकना चाहिए।  रनौत ने कहा कि गांधी की ‘‘चुप्पी और बेरुखी’’ पर इतिहास फैसला करेगा। कंगना ने सोनिया से कहा कि "क्या एक महिला होने के नाते आपको महाराष्ट्र में आपकी सरकार द्वारा मेरे साथ किए गए व्यवहार पर गुस्सा नहीं आता? क्या आप अपनी सरकार से अनुरोध नहीं कर सकतीं, कि वह डॉ. आम्बेडकर के दिए संविधान के सिद्धांतों को बरकरार रखे?’’
facebook twitter