+

कपिल सिब्बल का केंद्र पर कटाक्ष, कहा- राजनीति ही सब कुछ, सरकार ने टीकाकरण नीति पर चर्चा का विरोध किया

देश में कोरोना वायरस के खतरे के बीच विपक्ष लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर बना हुआ है। कांग्रेस के कद्दावर नेता कपिल सिब्बल ने गुरूवार को देश में धीमा और अव्यवस्थित टीकाकरण प्रक्रिया पर निशाना साधा और टीकाकरण के मुद्दे पर ओछी राजनीति करने का गंभीर आरोप लगाया।
कपिल सिब्बल का केंद्र पर कटाक्ष, कहा- राजनीति ही सब कुछ, सरकार ने टीकाकरण नीति पर चर्चा का विरोध किया
देश में कोरोना वायरस के खतरे के बीच विपक्ष लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर बना हुआ है। कांग्रेस के कद्दावर नेता कपिल सिब्बल ने गुरूवार को देश में धीमी और अव्यवस्थित टीकाकरण प्रक्रिया पर निशाना साधा और टीकाकरण के मुद्दे पर ओछी राजनीति करने का गंभीर आरोप लगाया। वहीं, जब इस मसले को कांग्रेस ने पीएसी (लोक लेखा समिति) में चर्चा के लिए कहा तो सत्ता पक्ष मोदी सरकार ने इसका कड़ा विरोध किया। 
कपिल सिब्बल ने गुरुवार को एक ट्वीट में कहा, राजनीति ही सब कुछ है। उन्होंने कहा, जनसंख्या का पूरी तरह से टीकाकरण: 24 मई: भारत से 75 देश आगे, 1 जून : 81 आगे, 17 जून: 89 देश आगे। उन्होंने कहा, केवल 3.5 प्रतिशत का पूर्ण टीकाकरण। पीएसी में, भाजपा ने टीकाकरण नीति पर चर्चा का विरोध किया! 
सरकार ने बुधवार को जानकारी दी कि देश में 26.53 करोड़ (26,53,17,472) से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की डोज दी गई है।बुधवार को 18-44 वर्ष आयु वर्ग में कुल 20,67,085 वैक्सीन खुराक पहली खुराक के रूप में और 67,447 दूसरी खुराक के रूप में दी गई। 
कुल मिलाकर, 37 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में 4,72,06,953 व्यक्तियों ने अपनी पहली खुराक प्राप्त की है और टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण की शुरूआत के बाद से कुल 9,68,098 लोगों ने अपनी दूसरी खुराक प्राप्त की है। बिहार, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, ओडिशा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल ने 18-44 वर्ष के आयु वर्ग के 10 लाख से अधिक लाभार्थियों को वैक्सीन की पहली खुराक दी है।


facebook twitter instagram