+

कर्नाटक : मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने बोले- बीजेपी नेतृत्व से अनुमति मिली तो विधानसभा सत्र से पहले मंत्रिमंडल विस्तार संभव

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने शनिवार को कहा कि अगर भाजपा नेतृत्व से अनुमति मिलती है तो बहु प्रतिक्षित मंत्रिमंडल विस्तार अगले हफ्ते शुरू हो रहे विधानसभा सत्र से पहले हो सकता है।
कर्नाटक : मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने बोले- बीजेपी नेतृत्व से अनुमति मिली तो विधानसभा सत्र से पहले मंत्रिमंडल विस्तार संभव
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने शनिवार को कहा कि अगर भाजपा नेतृत्व से अनुमति मिलती है तो बहु प्रतिक्षित मंत्रिमंडल विस्तार अगले हफ्ते शुरू हो रहे विधानसभा सत्र से पहले हो सकता है।

मुख्यमंत्री ने अपने दिल्ली दौरे को ‘‘सफल’’ बताते हुए कहा कि उनकी इच्छा है यह प्रकिया 21 सितंबर से शुरू हो रहे विधानसभा के मानसून सत्र से पहले पूरी हो जाए, लेकिन सबकुछ पार्टी नेतृत्व के फैसले पर निर्भर करता है। येदियुरप्पा ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘‘मैंने मंत्रिमंडल विस्तार के अपने इरादे से पार्टी अध्यक्ष (जेनपी नड्डा) को अवगत करा दिया है।

मुझे उम्मीद है कि आज शाम तक पार्टी नेता अपने फैसले से मुझे अवगत करा देंगे। शीर्ष नेतृत्व तय करेगा कि मुझे किसे मंत्रिमंडल में शामिल करना है।’’ उन्होंने शुक्रवार शाम को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मंत्रिमंडल विस्तार पर चर्चा की थी।

दो दिन की दिल्ली दौरे के बाद बेंगलुरु वापस रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ अगर पार्टी सहमत होती है तो विस्तार विधान सभा सत्र (21 सितंबर को शुरू हो रहा) से पहले होगा।’’

मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने वाले सदस्यों की संख्या के बारे में पूछे गए सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हमें देखना होगा, प्रधानमंत्री और राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा दिए गए परामर्श के आधार पर मैं फैसला लूंगा।’’ गौरतलब है कि कर्नाटक विधानसभा का मानसून सत्र 21 सितंबर से 30 सितंबर तक प्रस्तावित है।

उन्होंने कहा कि उनका दिल्ली दौरा ‘सफल रहा क्योंकि कर्नाटक सरकार के कई प्रस्तावों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य केंद्रीय मंत्रियों से सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है। येदियुरप्पा ने पिछली रात को मंत्रिमंडल में फेरबदल संकेत देते हुए कहा था कि यह प्रधानमंत्री और भाजपा अध्यक्ष के निर्देश पर निर्भर करेगा।

मंत्रिमंडल में फेरबदल या विस्तार 77 वर्षीय येदियुरप्पा के लिए मुश्किल माना जा रहा है क्योंकि मंत्री पद के कई दावेदार हैं। गौरतलब है कि कई पुराने नेता मंत्रिमंडल में शामिल होने का इंतजार कर रहे हैं, इनके अलावा कांग्रेस और जनता दल (सेकुलर) से बगावत कर भाजपा में आने वाले ए एच विश्वनाथ, आर शंकर और एमटीबी नागराज भी अपनी बारी का इंजतार कर रहे हैं। इस समय कर्नाटक मंत्रिमंडल में 28 सदस्य हैं और छह स्थान रिक्त हैं।

येदियुरप्पा ने शुक्रवार को कर्नाटक में नेतृत्व परिवर्तन के कयासों को खारिज करते हुए कहा कि वह पूरे कार्यकाल तक कर्नाटक के मुख्यमंत्री के तौर पर कार्य करते रहेंगे। येदियुरप्पा ने दिन में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से शिष्टाचार मुलाकात की।
facebook twitter