कर्नाटक : सियासी घमासान के बीच शुरू होगा विधानसभा का मानसून सत्र

कर्नाटक की सियासत में जारी घमासान को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट में दोबारा सुनवाई होनी है। बागी विधायकों ने कर्नाटक विधानसभा स्पीकर पर जानबूझ कर इस्तीफा ना स्वीकार करने का आरोप लगाया है। कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर रमेश कुमार ने आज 3 और विधायकों को मिलने का समय दिया है। इनमें आनंद सिंह, प्रताप पाटिल और नारायण गौड़ा शामिल हैं। अभी तक कुल 16 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। गुरुवार को कुल 10 विधायकों ने स्पीकर से मुलाकात की थी। 

इस पूरे घमासान के बीच राज्य विधानसभा का मानसून सत्र आज से शुरू हो रहा है। मानसून सत्र 12 जुलाई से 26 जुलाई तक चलने वाला है। कांग्रेस-जेडीएस ने अपने सभी विधायकों को व्हिप जारी कर दिया गया है। मुलाकात के बाद स्पीकर ने कहा, ‘‘ मैंने 10 विधायकों के पुन: पेश किए गए इस्तीफे गुरुवार शाम को प्राप्त किए हैं और उन पर नियमों के अनुसार कार्रवाई करुंगा। मैंने उन्हें मिलने की कोई तिथि नहीं दी है। मुझे इन पर अंतिम निर्णय लेने के लिए कुछ समय चाहिए।’’

कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष बोले - मेरा काम किसी को बचाना नहीं, SC को सौंपेंगे रिकॉर्डिंग 

कर्नाटक के बागी विधायक कल रात देर रात पुनर्जागरण - मुंबई कन्वेंशन सेंटर होटल लौट आए। बेंगलुरु में कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार से मुलाकात के बाद वे शाम 6 बजे स्पीकर से मिलने और उनके इस्तीफे को फिर से जारी करने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्देशित किए गए थे।

जानकारी के लिए बता दें की  सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कनार्टक के कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन के 10 बागी विधायकों को शाम 6 बजे विधानसभा अध्यक्ष से मिलने की अनुमति दे दी थी। साथ ही कोर्ट ने विधानसभा अध्यक्ष को उनके इस्तीफे पर फैसला करने का निर्देश भी दिया। 
Download our app