+

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने को कर्नाटक तैयार, स्वास्थ्य मंत्री बोले- 20 फीसदी बिस्तर बच्चों के लिए आरक्षित

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर ने कहा कि कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर आने के अंदेशे के मद्देनजर अस्पतालों और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में बच्चों के लिए 20 प्रतिशत बिस्तर आरक्षित।
कोरोना की तीसरी लहर से निपटने को कर्नाटक तैयार, स्वास्थ्य मंत्री बोले- 20 फीसदी बिस्तर बच्चों के लिए आरक्षित
कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर ने गुरुवार को कहा कि कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर आने के अंदेशे के मद्देनजर की जा रही तैयारियों के तहत राज्य सरकार ने जिला और तालुक अस्पतालों और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में बच्चों के लिए 20 प्रतिशत बिस्तर आरक्षित करने सहित कई उपाय किए हैं। सुधाकर विधानसभा में विजयनगर से कांग्रेस विधायक एम कृष्णप्पा द्वारा प्रश्नकाल के दौरान कोविड 19 की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए की गई तैयारी, खासकर, बच्चों से संबंधित तैयारी पर किए गए सवाल का जवाब दे रहे थे।
मंत्री ने कहा, “तकनीकी सलाहकार समिति ने सुझाव दिया है कि कोविड की संभावित तीसरी लहर के दौरान बच्चों को अधिक खतरा रह सकता है, इसके मद्देनजर सरकार ने सरकारी और निजी स्तरों पर ऑक्सीजन वाले 25,870 बिस्तर और बच्चों के लिए 502 वेंटिलेटर तैयार रखे हैं।” उन्होंने कहा, “सभी जरूरी उपकरण और बुनियादी ढांचे को तैयार रखा गया है। कुछ और उपकरण आने बाकी हैं। वे शायद 15 दिनों से तीन हफ्ते में आ जाएं और उन्हें अस्पतालों में उपलब्ध कराया जाएगा।”
मंत्री ने कहा कि जिला और तालुक अस्पतालों और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में 20 प्रतिशत बिस्तर बच्चों के लिए आरक्षित होंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के मामले कम होने के बाद अस्पतालों में बिस्तरों की कमी नहीं है। सुधाकर ने यह भी कहा कि यह सच है कि रायचूर जैसे कुछ स्थानों पर बिस्तरों की कमी की खबरें हैं और इसके लिए तत्काल उपाय किए गए हैं।
facebook twitter instagram