करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन कल, तीर्थयात्रियों को बेसब्री से इंतजार

भारत के हजारों सिख श्रद्धालु शनिवार को होने वाले करतारपुर साहिब गलियारे के ऐतिहासिक उद्धाटन का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं, जिसके बाद वे गुरुद्वारा दरबार साहिब की यात्रा पर जा सकेंगे। हालांकि इस बीच पाकिस्तानी अधिकारियों और सेना की ओर से पासपोर्ट की आवश्यकता तथा 20 अमेरिकी डॉलर सुविधा शुल्क वसूले जाने को लेकर परस्पर विरोधी बयान आ रहे हैं। 

भारत के डेरा बाबा नानक को पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नारोवाल जिले में गुरुद्वारा दरबार साहिब से जोड़ने वाला गलियारा शनिवार को श्रद्धालुओं के लिये खोल दिया जाएगा। इस मौके पर दोनों देशों में अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान 12 नवंबर को गुरु नानक की 550वीं जयंती से पहले इस गलियारे का उद्घाटन करेंगे।

कांग्रेस नेता के सी वेणुगोपाल बोले- सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी की जिंदगी से खिलवाड़ कर रही है सरकार

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को पंजाब के गुरदासपुर में डेरा बाबा नानक में स्थित करतारपुर गलियारे की एकीकृत जांच चौकी (आईसीपी) का उद्घाटन करेंगे। जांच चौकी के उद्घाटन से भारतीय तीर्थयात्रियों को पाकिस्तान में गुरुद्वारा करतारपुर साहिब जाने की सुविधा मिलेगी। भारत ने 24 अक्टूबर को डेरा बाबा नानक में अंतरराष्ट्रीय सीमा के ‘जीरो प्वाइंट’ पर कॉरिडोर के परिचालन के तौर-तरीकों पर पड़ोसी देश के साथ करार किया था। इस समझौते के तहत हर दिन 5,000 भारतीय श्रद्धालु गुरुद्वारा दरबार साहिब में दर्शन कर सकेंगे जहां गुरु नानक ने अपने जीवन के अंतिम 18 साल बिताए थे। 

विदेश सचिव सोहेल महमूद ने बुधवार को कहा कि भारत के तीर्थयात्री वाघा सीमा से होकर आएंगे। महमूद ने एक बयान में कहा, इसी प्रकार, पूरी दुनिया से और खासकर उन देशों से तीर्थयात्री पाकिस्तान आ रहे हैं जहां सिख समुदाय बड़ी संख्या में है। हालांकि, इस मुद्दे को लेकर पाकिस्तान की ओर से परस्पर विरोधी संदेश दिए गए हैं कि क्या भारतीय तीर्थयात्रियों को गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने के लिए पासपोर्ट की आवश्यकता होगी। 

साथ ही नयी दिल्ली ने आगाह किया है कि इस्लामाबाद को शनिवार को उद्घाटन के दौरान भारत-विरोधी प्रचार से दूर रहना चाहिये। पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता ने दावा किया कि गलियारे का उपयोग करने के लिए पासपोर्ट की आवश्यकता होगी, जबकि पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने इसका खंडन करते हुए कहा कि खान ने एक वर्ष के लिए भारतीय सिखों के गुरुद्वारे में आने के लिए पासपोर्ट की शर्त माफ कर दी है। 
Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Inauguration,Kartarpur Corridor,pilgrims,corridor,devotees,Kartarpur Sahib,India,Sikh,Gurdwara Darbar Sahib