केरल टूरिज्म ने बीफ डिश की रेसिपी की शेयर, ट्विटर पर छिड़ गया विवाद, यूजर्स ने की आलोचना

केरल टूरिज्म ने अपने ट्विटर अकाउंट पर बीफ डिश की एक पोस्ट ट्वीट की है जिसके बाद विवावद शुरु हो गया है। इस पोस्ट पर कई लोगों ने कहा है कि उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत किया गया है। बीते बुधवार को ट्विटर पर केरल टूरिज्म ने यह पोस्ट किया था। उन्होंने अपने इस पोस्ट में डिश की तस्वीर और इसके साथ बनाने की विधि भी पोस्ट की है। 


बीफ उलरथियाथु की तस्वीर केरल टूरिज्म ने ट्विटर पर पोस्ट की थी। इस ट्वीट के बाद से ही ट्विटर पर विवाद शुरु हो गया। इस ट्वीट में बीफ की तस्वीर पोस्ट करने के बाद लोगों ने कहा कि इससे हमारी धार्मिक भावनाओं को आहत किया है। 

यूजर्स ने दीं ऐसे प्रतिक्रियाएं

इस ट्वीट पर लोगों ने टिप्पणी करते हुए कहा कि बीफ पर किए गए इस ट्वीट को किसी दूसरे दिन भी पोस्ट किया जा सकता था लेकिन मकर संक्रांति, पोंगल, बीहू जैसे त्योहारों के दिन इस पोस्ट किया गया। लोगों ने कहा कि गायों की पूजा इस दिन करते हैं और ऐसा ट्वीट उन्हें ऐसे खास दिन पर नहीं करना चाहिए था। 



बता दें कि केरल टूरिज्म के इस ट्वीट का जवाब देते हुए कई लोगों ने पोर्क की डिशिज पोस्ट कर दीं। एक यूजर ने कहा, असम आएं और स्वादिष्ट पोर्क खाएं। यह बेहद स्वादिष्ट होता है..... आप चाहें तो बैम्बू शूट्स के साथ भी इसका सेवन कर सकते हैं। 


दूसरे यूजर ने कहा, यह और कुछ नहीं बल्कि उकसाना है। क्या तुम नहीं चाहते कि उत्तर भारत के लोग केरल घूमने आएं?तो इस तरह से बीफ का प्रमोशन क्यों? क्या लोग केवल बीफ खाने के लिए केरल आते हैं? बदलाव के लिए पोर्क को प्रमोट करें...। 
हालांकि कुछ लोगों ने कहा कि राज्य के लोग तय करते हैं कि उन्हें क्या खाना है और क्या नहीं क्योंकि उनका कानून उनके भोजन विकल्पों को चुनता है। कई राज्यों में गायों और भैंस आदि को काटने पर प्रतिबंध है। 

Tags : Chhattisgarh,Punjab Kesari,जगदलपुर,Jagdalpur,Sanctuaries,Indravati National Park ,dispute