खट्टर सरकार ने दिया वोकेशनल टीचर्स को तोहफा

पंचकूला/चंडीगढ़ : वोकेशनल टीचर एसोसिएशन का पंचकूला में 34 दिन से चल रहा धरना आखिरकार खत्म हो ही गया। कर्मचारी आंदोलन को खत्म करने में एक बार फिर सीएम के पूर्व ओएसडी जवाहर यादव ने अहम भूमिका निभाई। सरकार की ओर से प्रतिनिधि के तौर पर टीचर्स एसोशिएशन से बात करने पहुंचे जवाहर यादव ने धरना स्थल पर जाकर अनशनकारी शिक्षकों को जूस पिलाकर अनशन खत्म कराया।

धरना खत्म करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में जवाहर यादव ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वोकेशनल टीचर्स की मांगों पर सहमति जताते हुए वोकेशनल टीचर्स की सैलरी में बढ़ोतरी करने का फैसला किया है, इसके अलावा जिन प्राइवेट कंपनियों ने टीचर्स को पूरी सेलरी नही दी है, उन्हें नोटिस जारी करने का भी आश्वासन दिया है। जवाहर यादव ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार वोकेशनल टीचर्स को अप्रैल 2019 से बढ़ी हुई सेलरी दी जाएगी और टीचर्स की नियुक्तियों में ठेकेदारों के कमीशन को भी कम किया जाएगा। जवाहर यादव ने बताया कि सीएम मनोहर लाल की प्राथमिकता है कि आगे से ऐसी नियुक्तियां कौशल विश्वविद्यालय के माध्यम से ही हो, ताकि शिक्षकों का शोषण ना हो सके।

सरकार के इस आश्वासन पर वोकेशनल टीचर्स एसोशिएशन के राज्य प्रधान मुकेश गुर्जर, उपप्रधान संदीप चौहान, महासचिव अनूप ढिल्लों ने खुशी जताते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल और सीएम के पूर्व ओएसडी जवाहर यादव का आभार जताया है। एसोशिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि सरकार ने उनकी सेलरी 18 हजार से बढ़ाकर 23 हजार 605 रुपए करने का एलान किया है और जल्द ही कम्पनी ठेकेदारों पर भी कार्रवाई का भरोसा दिया है। टीचर्स के मुताबिक कम्पनी उनको 18 हजार सेलरी में से केवल 15 हजार ही देती थी, गौ तलब है कि वोकेशनल टीचर्स पिछले लम्बे समय टीचर्स नियुक्त करने वाली कम्पनियों से परेशान थे और पिछले 34 दिन से लगातार हड़ताल और धरने पर थे। 
Tags : ,Khattar,government,teachers