+

खट्टर ने कोंग्रेस को बनाया निशाना कहा ' सरकार कोई बड़ा फैसला करती है तो विपक्षी पार्टी हंगामा करती है'

खट्टर ने कांग्रेस पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि जब भी सरकार कोई बड़ा फैसला करती है तो विपक्षी पार्टी हंगामा करती है।
खट्टर ने कोंग्रेस को बनाया निशाना कहा ' सरकार कोई बड़ा फैसला करती है तो विपक्षी पार्टी हंगामा करती है'
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने कृषि कानूनों की आलोचना करने को लेकर मंगलवार को कांग्रेस पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि जब भी सरकार कोई बड़ा फैसला करती है तो विपक्षी पार्टी हंगामा करती है। भाजपा-जजपा की गठबंधन सरकार के एक साल पूरा होने के मौके पर खट्टर और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सत्तारूढ़ गठबंधन राज्य को विकास के उच्च पथ पर ले जाने के लिए प्रतिबद्ध है। हिसार में एक राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने भ्रष्टाचार मुक्त, पारदर्शी और राज्य के लोगों के प्रति जवाबदेह सरकार दी है। 
खट्टर ने हिसार में पत्रकारों से कहा कि अगले चार वर्षों में सरकार राज्य को विकास के उच्च पथ पर ले जाने के लिए प्रतिबद्ध है। खट्टर ने यह भी कहा कि कांग्रेस किसानों को यह कहकर गुमराह कर रही है कि नए कानूनों से वे बर्बाद हो जाएंगे, मंडियां और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) प्रणाली खत्म हो जाएगी और ये अधिनियम बड़े कारोबारी घरानों को उनका शोषण करने में मदद करेंगे। 
खट्टर ने चौटाला के पड़दादा और पूर्व उपप्रधानमंत्री का हवाला देते हुए कहा, चौधरी देवीलाल कहा करते थे कि कभी-कभी किसानों को समझाना मुश्किल है, जबकि उन्हें गुमराह करना आसान है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस लगातार झूठ फैला रही है और जब भी सरकार कोई बड़ा फैसला करती है तो उस पर पार्टी की हंगामा करने की आदत है, चाहे संविधान के अनुच्छेद 370 का मुद्दा हो या अयोध्या में राम मंदिर का। चौटाला ने अपने संबोधन में कहा, एक साल पहले, विपक्ष कहता था कि इस सरकार के तीन महीने पूरे नहीं होंगे, फिर वे कहते थे कि यह छह महीने बाद गिर जाएगी, लेकिन अब हमने एक साल पूरा कर लिया है।
उन्होंने कहा, अगले चार वर्षों में, हमारी सरकार हरियाणा को विकास के उच्च पथ पर ले जाएगी।वहीं खट्टर ने कहा, हम पांच साल में एक लाख नौकरियां देंगे। पिछले एक साल के दौरान, हम पहले ही 10,000 नौकरियां दे चुके हैं।उन्होंने कहा कि सरकार हरियाणा के युवाओं के लिए निजी उद्योग में 75 प्रतिशत नौकरियों को आरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा बरोदा उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी इंदुराज नारवाल के लिए सिर्फ पिता-पुत्र (पूर्व मुख्यमंत्री दीपेंद्र सिंह हुड्डा और उनके सांसद पुत्र दीपेंदर सिंह हुड्डा) ही प्रचार कर रहे हैं। इस सीट पर तीन नवंबर को उपचुनाव होना है।उन्होंने कहा, कांग्रेस का कोई अन्य नेता वहां जाने को तैयार नहीं है।
खट्टर ने कहा कि विपक्षी पार्टी को पता है कि उनके उम्मीदवार के साथ वही होगा जो जनवरी 2019 में जींद उपचुनाव में पार्टी प्रत्याशी के साथ हुआ था। मुख्यमंत्री ने कहा,  कांग्रेस ने जींद में बड़े नेता (रणदीप सिंह सुरजेवाला) को उतारा था, लेकिन उन्हें अपमानजनक हार का सामना करना पड़ा। वह सिर्फ जींद में ही नहीं हारे, बल्कि 2019 के विधानसभा चुनाव में कैथल की अपनी सीट भी हार गए थे और अब वह बिहार में प्रचार कर रहे हैंखट्टर ने कहा ,जब भी हमारी सरकार बड़ा फैसला करती है तो वे हंगामा करते हैं।उन्होंने कहा कि जब अनुच्छेद 370 को निरस्त किया गया तब कांग्रेस ने हंगामा किया और दावा किया कि इससे कश्मीर घाटी में रक्तपात होगा। मुख्यमंत्री ने पूछा ,क्या कश्मीर में एक साल में कुछ हुआ है?खट्टर ने कहा कि कांग्रेस ने राम मंदिर मुद्दे पर हंगामा किया और कहा कि इससे देश में दंगे हो जाएंगे। संशोधित नागरिकता कानून पर भी कांग्रेस ने हंगामा किया। 
मुख्यमंत्री ने कहा, जब कांग्रेस नीत संप्रग सत्ता में था तो उसमें इस डर से पाकिस्तान के खिलाफ उसके दुस्साहसों के लिए कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं हुई, क्योंकि वह परमाणु हथियारों से लैस राष्ट्र है। मगर मोदी सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक और हवाई हमले करके उन्हें एक सबक सिखाया है। उन्होंने कहा,1962 के बाद कांग्रेस चीन के खिलाफ आवाज़ उठाने की हिम्मत नहीं जुटा पाई लेकिन आज चीन विश्व में अपने आप को अलग-थलग पा रहा है और पूरी दुनिया हमारा समर्थन कर रही है।
खट्टर ने कहा कि कोविड-19 की चुनौतीपूर्ण स्थिति के बावजूद हरियाणा अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर स्थिति में है। खट्टर ने हरियाणा में कुछ किसान नेताओं द्वारा दशहरे पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला जलाने की निंदा की और पूछा कि क्या राम भक्त प्रधानमंत्री की राक्षस राजा रावण से समानता करनी चाहिए ? खट्टर ने जजपा नेता और चौटाला के साथ मिलकर हिसार हवाई अड्डे के रनवे के विस्तार के लिए भूमि पूजा की। रनवे को 1200 मीटर से बढ़ाकर 3000 मीटर किया जाएगा जिसपर 165 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। इसके अलावा उन्होंने 1688 करोड़ रुपये की 306 परियोजनाओं की नींव रखी या उद्धाटन किया। 
facebook twitter instagram