+

कोझिकोड विमान हादसा: एयर इंडिया पायलट यूनियन ने हरदीप सिंह पुरी को लिखा पत्र, साथ में बैठक की मांग की

एयर इंडिया की दो प्रमुख पायलट यूनियनों ने काम करने की स्थितियों और उड़ान सुरक्षा से जुड़े मामलों पर चर्चा के वास्ते उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी के साथ बैठक किये जाने की बृहस्पतिवार को मांग की।
कोझिकोड विमान हादसा: एयर इंडिया पायलट यूनियन ने हरदीप सिंह पुरी को लिखा पत्र, साथ में बैठक की मांग की
एयर इंडिया की दो प्रमुख पायलट यूनियनों ने काम करने की स्थितियों और उड़ान सुरक्षा से जुड़े मामलों पर चर्चा के वास्ते उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी के साथ बैठक किये जाने की बृहस्पतिवार को मांग की। छह दिन पहले कोझिकोड में विमान हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई थी।

भारतीय वाणिज्यिक पायलट संघ (आईसीपीए) और भारतीय पायलट गिल्ड (आईपीजी) ने पुरी को लिखे पत्र में कहा है, ‘‘हमारे पायलट कोविड-19, मॉनसूनी मौसम, खराब तरीके से तैयार उड़ान ड्यूटी समय सीमाओं (एफडीटीएल), डीजीसीए (नागरिक उड्डयन महानिदेशालय) द्वारा दिये गए कई विस्तार और व्यवस्थागत चुनौतियों का लगातार सामना कर रहे हैं।’’

दोनों यूनियनों ने कहा कि वे एयर इंडिया और उसकी सहायक एयर इंडिया एक्सप्रेस और एलायंस एयर के पायलटों की ओर से लिख रहे हैं। गौरतलब है कि गत सात अगस्त की रात्रि में भारी बारिश के बीच कोझिकोड हवाई अड्डे पर उतरने के दौरान दुबई से आ रहा एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान टेबलटॉप रनवे पर फिसल गया था।

रक्षा उत्पादन में घरेलू उद्योगों को पांच वर्षों में चार लाख करोड़ रूपये के दिए जायेंगे आर्डर: राजनाथ

विमान में 190 लोग सवार थे। बी737 विमान 35 फुट गहरी खाई में गिरकर दो टुकड़ों में टूट गया था। इस हादसे में दोनों पायलटों समेत 18 लोगों की मौत हो गई थी। दोनों यूनियनों ने अपने पत्र में कहा, ‘‘विमानन नीति निर्माता बिना किसी परिणाम की चिंता के कार्य का मुश्किल माहौल बना रहे हैं।

यह सर्वोपरि है कि यात्रा करने वाली जनता की सुरक्षा से समझौता नहीं किया जाता है। इसमें आप हमारी एकमात्र उम्मीद हैं।’’ कोझिकोड विमान हादसे के बारे में बात करते हुए यूनियनों ने कहा, ‘‘आधिकारिक जांच के निष्कर्षों के आने तक, क्या हम इस तथ्य को उजागर कर सकते हैं कि एयर इंडिया समूह की कंपनियों के पायलटों की उड़ान सुरक्षा और काम करने की स्थिति को अलग से नहीं देखा जा सकता है।’’
facebook twitter