+

बिहार में चिकित्सीय व्यवस्था का अभाव मरीजों को खल रहा है : डा. वर्मा

मानव की सेवा सच्ची सेवा है। मेडिकल ट्रीटमेंट में नैतिकता और हिलिंग टच की जरूरत है। धम्मा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पीटल का उदघाटन कर डा. एमएल वर्मा ने कहा कि बिहार के चिकित्सा क्षेत्र को राज्य सरकार ने बहुत हद तक सुधारने का प्रयास किया।
बिहार में चिकित्सीय व्यवस्था का अभाव मरीजों को खल रहा है : डा. वर्मा
मानव की सेवा सच्ची सेवा है। मेडिकल ट्रीटमेंट में नैतिकता और हिलिंग टच की जरूरत है। धम्मा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पीटल का उदघाटन कर डा. एमएल वर्मा ने कहा कि बिहार के चिकित्सा क्षेत्र को राज्य सरकार ने बहुत हद तक सुधारने का प्रयास किया।
अभी भी बिहार के लोगों को चिकित्सीय व्यवस्था का अभाव खल रहा है। कुछ निजी अस्पतालों में सुविधा उपलब्ध है लेकिन बिहार जैसे गरीब प्रदेश की जनता के लिए महंगी समझी जाती है।
इस अभाव को दूर कर मरीजों को किफायती एवं उचित चिकित्सा उपलब्ध कराने के लिए धम्मा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पीटल का निर्माण किया गया जहां विश्वस्तरीय सुविधा उपलब्ध के साथ बिहार के मरीजों को बाहर के अस्पतालों में मोटी रकम खर्च न करना पड़े।
डा. महेन्द्र सिंह ने कहा कि जरूरतमंद, निःसहाय लोगों को ध्यान में रखकर अस्पताल का स्थापना किया गया है जहां कम खर्च में बेहतर सुविधा देने का प्रयास रहेेगा। डा. सुदीश कुमार ने कहा कि भगवान बुद्घ के आदर्शों पर चलकर जनसेवा मे विश्वास रख समाज के उत्थान में योगदान देगा।
संस्था पहले भी सामाजिक कार्य में योगदान देकर जनसेवा के प्रति तत्पर रहा है। अधिक आमदनी के लिए ‌चिकित्सक चिकित्सा क्षेत्र में विशेषज्ञ होने के बाद बाहर की ओर रूख अपना लेते हैं। अभी सुदूर ग्रामीण व आदिवासी इलाकों में समुचित चिकित्सा का अभाव है।
facebook twitter instagram