+

शराब माफियाओं को प्राप्त है सत्ता पक्ष और विपक्ष का संरक्षण: पप्पू यादव

जहरीली शराब से हुई मौत के बाद आज शुक्रवार को जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने पीएमसीएच पहुंचकर मृतक के परिजनों से मुलाकात की। वहां उन्हें मृतक के परिजनों के लिए सरकार से मुआवजे के साथ – साथ सरकारी नौकरी की भी मांग की।
शराब माफियाओं को प्राप्त है सत्ता पक्ष और विपक्ष का संरक्षण: पप्पू यादव
पटना (पंजाब केसरी) : जहरीली शराब से हुई मौत के बाद आज शुक्रवार को जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने पीएमसीएच पहुंचकर मृतक के परिजनों से मुलाकात की। वहां उन्हें मृतक के परिजनों के लिए सरकार से मुआवजे के साथ – साथ सरकारी नौकरी की भी मांग की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि कहा कि प्रदेश में प्रशासनिक तंत्र की विफलता के कारण आज सात लोगों की मौत हुई है। पांच लोगों की स्थिति गंभीर है। 
पप्पू यादव ने इन मौतों के लिए शराब माफिया को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि शराब माफियाओं को सत्ता पक्ष और विपक्ष का संरक्षण प्राप्त है। साथ ही इसमें अधिकारियों की भी मिलीभगत है। इस वजह से प्रदेश में शराबबंदी सिर्फ दिखावा बनकर रह गया है। पप्पू यादव ने कहा कि मैं इस घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग करते हैं। साथ ही मृतक के परिजनों को जब तक मुआवजा नहीं मिलेगा, तब तक हम और हमारी पार्टी चुप नहीं बैठेगी। इस घटना में जो भी जिम्मेदार हो उस पर कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह देश का दुर्भाग्य है, जब ड्राइ स्टेट होने के बावजूद गुजरात और बिहार में जहरीली शराब से लोगों की मौत हो रही है।
उन्होंने कहा कि यह गंभीर मसला है, जिस पर सत्ताधारी दल बोलने तक को तैयार नहीं है, क्योंकि मरने वाले लोग निचले तबके से आते हैं। जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में शराब माफियाओं को सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों का संरक्षण प्राप्त हैं। प्रशासन और नेताओं की मिलीभगत से शराब माफिया की समानान्तर सरकार चल रही हैं। सरकार को शराबबंदी कानून की समीक्षा करनी चाहिए। 
उन्होंने कहा कि सरकार और विपक्ष के जनप्रतिनिधियों का सामूहिक सैंपल लेकर जांच होने के बाद सच्चाई सामने आ जाएगी। उन्होंने कहा कि जहरीली शराब से हुई मौत के बाद मृतक के परिजनों के साथ हर सुख-दु:ख में जन अधिकार पार्टी शामिल रहेगी। इस दौरान पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राजेश पप्पू, स्वास्थ्य प्रभारी मुन्ना जी मौजूद थे।
facebook twitter instagram