+

लोजपा-सेक्यूलर ने स्व.पासवान को भारत रत्न की उपाधी देने के लिए राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से की मांग

लोजपा-सेक्यूलर ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को पत्र- लिखकर केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान को भारत रत्न की उपाधी देने की मांग किया है।
लोजपा-सेक्यूलर ने स्व.पासवान को भारत रत्न की उपाधी देने के लिए राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से की मांग
लोजपा-सेक्यूलर ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को पत्र- लिखकर केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान को भारत रत्न की उपाधी देने की मांग किया है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ सत्यानंद शर्मा, पार्टी के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विष्णु पासवान युवा लोजपा-सेक्यूलर के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल कुमार पासवान, शिक्षाविद प्रो. रामप्रवेश यादव ने पत्र में लिखा है कि रामविलास पासवान अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त नेता थे।
डॉ. भीमराव अम्बेडकर के प्रतिमूर्ति थे। जब भी रामविलास पासवान दलित,अल्पसंख्यक सम्मेलन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित करते थे तब विश्वभर के प्रतिनिधि बड़ी संख्या में भाग लेते थे। डॉ. अम्बेडकर  जिस तपके के लिए आन्दोलन किया था उस तपके को बोलने और लड़ने का ताकत रामविलास पासवान ने दिया।
जुल्म सहो मत जुल्म करो मत का  नारा देकर दबे कुचले समाज में संचार पैदा किया। मंडल कमीशन के नायक थे। समाजिक न्याय के प्रवर्तक थे। आज देश जैसे डॉ. भीमराव अम्बेडकर की पूजा करता है कल वैसी ही पूरे देश में रामविलास पासवान की पूजा होगी।
इस लिए रामविलास पासवान को भारत रत्न की उपाधी से अलंकृत किया जायें। साथ ही उनके सरकारी आवास 12, जनपथ को राष्ट्रीय स्मारक घोषित  किया जायें। सरकार प्राथमिकता के आधार पर भारत रत्न से शीघ्र अलंकृत नहीं करेंगी तो लोजपा- सेक्यूलर राष्ट्रव्यापी आन्दोलन चलाएंगी।
facebook twitter instagram