+

लॉकडाउन कोरोना के प्रसार को कम नहीं करता, अर्थव्यवस्था पर पड़ता है काफी बुरा प्रभाव : CM सावंत

सावंत ने कोविड को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन लगाना कोई समाधान नहीं है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन कोरोनावायरस के प्रसार को कम नहीं करता है, लेकिन राज्य की अर्थव्यवस्था पर एक काफी बुरा प्रभाव पड़ता है।
लॉकडाउन कोरोना के प्रसार को कम नहीं करता, अर्थव्यवस्था पर पड़ता है काफी बुरा प्रभाव : CM सावंत
गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने बुधवार को राज्य मंत्रिमंडल की एक बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए एजेंसियों को कोरोना से जुड़ी एसओपी का उल्लंघन करने के लिए लोगों पर एक दिन में कई बार जुर्माना लगाने का निर्देश दिया गया है। दरअसल मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति एक दिन में बार-बार एसओपी का उल्लंघन करता है तो उसपर एक से अधिक बार जुर्माना लगाया जा सकता है। 
सावंत ने कोविड को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन लगाना कोई समाधान नहीं है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन कोरोनावायरस के प्रसार को कम नहीं करता है, लेकिन राज्य की अर्थव्यवस्था पर एक काफी बुरा प्रभाव पड़ता है। 
"लॉकडाउन एक समाधान नहीं है। हम लोगों को परेशान नहीं करना चाहते हैं। पिछले लॉकडाउन के बाद, हमें लेबर कैंप शुरू करना पड़ा और अर्थव्यवस्था शून्य पर पहुंच गई। राजस्व संग्रह कम हो गया।"सावंत ने कहा, "लॉकडाउन से कोरोना में कमी नहीं आएगी। इसका समाधान टीकाकरण, सामाजिक दूरी, मास्क पहनना और सावधानियां बरतना है।"
मुख्यमंत्री ने आगे कहा, "मैंने पुलिस और कलेक्टर कार्यालय से कहा है कि अगर किसी व्यक्ति को सार्वजनिक स्थानों पर बार-बार उल्लंघन करते हुए (एसओपी) देखा जाता है, तो उस व्यक्ति पर एक से अधिक बार जुर्माना लगाया जा सकता है। पुलिस को एक दिन में 500 से ज्यादा लोगों पर जुर्माना लगाने को कहा गया है।" हाल ही में गोवा सरकार ने मास्क न पहनने का शुल्क 200 रुपये कर दिया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोवा में मंगलवार को कोरोना के 387 मामले दर्ज किए गए, जिनमें से 16 पर्यटक थे। 

facebook twitter instagram