+

लोढ़ा देश के सबसे अमीर बिल्डर

देश के रीयल एस्टेट क्षेत्र के सबसे अमीर उद्यमियों की सूची में लोढ़ा डेवलपर्स के एम पी लोढ़ा और उनके परिवार का नाम सबसे ऊपर है।
लोढ़ा देश के सबसे अमीर बिल्डर
नई दिल्ली : देश के रीयल एस्टेट क्षेत्र के सबसे अमीर उद्यमियों की सूची में लोढ़ा डेवलपर्स के एम पी लोढ़ा और उनके परिवार का नाम सबसे ऊपर है। उनकी कुल संपत्ति 31,960 करोड़ रुपये आंकी गई हैं। इस सूची में डीएलएफ के राजीव सिंह दूसरे और एम्बैसी ग्रुप के संस्थापक जितेंद्र विरवानी तीसरे स्थान पर हैं। हुरुन रिपोर्ट और ग्रोही इंडिया ने सोमवार को ‘ग्रोही हुरुन इंडिया रीयल एस्टेट रिच लिस्ट 2019’ का तीसरा संस्करण जारी किया। 

इस रिपोर्ट में देश के रीयल एस्टेट क्षेत्र के 100 सबसे अमीर उद्यमियों की जानकारी दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 31,960 करोड़ रुपये की धन-दौलत के साथ मंगल प्रभात लोढ़ा और मैक्रोटेक डेवलपर्स का परिवार (पुराना नाम लोढ़ा डेवलपर्स) सूची में पहले स्थान पर रहा है। यह लगातार दूसरा साल है जबकि लोढ़ा परिवार इस सूची में शीर्ष पर है। एम पी लोढ़ा इस समय भाजपा की मुंबई इकाई के प्रमुख हैं। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि लोढ़ा परिवार की संपत्ति 2019 में 18 प्रतिशत बढ़ी है। सूची में शामिल 99 अन्य भारतीयों की कुल संपत्तियों के मुकाबले 12 प्रतिशत लोढ़ा परिवार के पास है। इस सूची में डीएलएफ के राजीव सिंह 25,080 करोड़ रुपये की संपदा के साथ दूसरे स्थान पर हैं। वर्ष 2019 में उनकी संपत्तियां 42 प्रतिशत बढ़ीं। पिछले साल वह इस सूची में तीसरे स्थान पर थे। बेंगलुरु की एम्बैसी प्रॉपर्टी डेवलपमेंट्स के जितेंद्र विरवानी 24,750 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ तीसरे स्थान पर हैं। 

यह सूची इन उद्यमियों की 30 सितंबर, 2019 तक के संपत्ति आकलन के आधार पर तैयार की गई है। सूचीबद्ध कंपनियों के मामले में उनके बाजार पूंजीकरण के आधार पर सूची में स्थान दिया गया है। वहीं गैर- सूचीबद्ध कंपनियों के मामले में उनके ताजा वित्तीय ब्योरे को लिया गया है। गोदरेज प्रॉपर्टीज की स्मिता वी कृष्णा सूची में शामिल सबसे अमीर महिला हैं। उनकी कुल संपत्तियां 3,560 करोड़ रुपये आंकी गई है। 

सूची में शामिल लोगों की औसत आयु 56 साल है। चार की उम्र 40 साल से कम और तीन की 80 साल से अधिक है। रीयल एस्टेट क्षेत्र के अमीर उद्यमियों की सूची में हीरानंदानी कम्युनिटीज ग्रुप के निरंजन हीरानंदानी 17,030 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ चौथे, के रहेजा के चंद्रू रहेजा एवं परिवार 15,480 करोड़ रुपये के साथ पांचवें, ओबरॉय रीयल्टी के विकास ओबरॉय 13,910 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ छठे और बागमाने डेवलपर्स के राजा बागमाने 9,960 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ सातवें स्थान पर हैं।
facebook twitter