+

मध्यप्रदेश : कांग्रेस नेता के खिलाफ आज निर्वाचन पदाधिकारी के समक्ष शिकायत दर्ज कराएगी बीजेपी

कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णन के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आज यहां राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (सीईओ) के समक्ष शिकायत दर्ज कराएगी।
मध्यप्रदेश : कांग्रेस नेता के खिलाफ आज निर्वाचन पदाधिकारी के समक्ष शिकायत दर्ज कराएगी बीजेपी
मध्यप्रदेश के मुरैना जिले के जौरा में चुनावी सभा के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लेकर आपत्तिजनक और अभद्र टिप्पणी करने वाले कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णन के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आज यहां राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (सीईओ) के समक्ष शिकायत दर्ज कराएगी। प्रदेश भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने बताया कि आचार्य प्रमोद कृष्णन ने कल जौरा में चुनावी सभा के दौरान वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं की मौजूदगी में मुख्यमंत्री को लक्ष्य करते हुए बेहद असभ्य और अपशब्दों का इस्तेमाल करते हुए टिप्पणी की है। प्रदेश भाजपा का एक दल आज यहां सीईओ के समक्ष शिकायत दर्ज करवाकर उनकी सभाओं पर रोक के साथ ही कानूनी कार्रवाई की मांग करेगा।
अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस के स्टार प्रचारक कृष्णन ने मामा के नाम से लोकप्रिय चौहान के खिलाफ जो अमर्यादित टिप्पणी की हैं, वह मध्यप्रदेश के करोड़ महिलाओं और बच्चों का अपमान है। चौहान महिलाओं, बेटियों और बच्चों के कल्याण के लिए लगातार कार्य करके मामा के रूप में लोकप्रिय हुए हैं। इसलिए वे चौथी बार मुख्यमंत्री बने हैं। लेकिन प्रमोद कृष्णन ने कल बेहद अमर्यादित टिप्पणी कर निम्न स्तरीय मानसिकता का परिचय दिया है। उन्होंने कहा कि देश के उद्योगपति रतुल पुरी के‘‘मामा‘’एवं कांग्रेस नेता के समर्थन में प्रमोद कृष्णन ने चौहान के खिलाफ टिप्पणी की है और इसकी कीमत पूरी कांग्रेस को उपचुनाव में चुकानी पड़गी।
 मुरैना जिले के जौरा में कल देर शाम आचार्य प्रमोद कृष्णन ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता सचिन पायलट और अन्य नेताओं की मौजूदगी में श्री चौहान को लक्ष्य करके अनेक टिप्पणियां कीं। इसी दौरान वे मामा के पौराणिक संदर्भ के साथ अमर्यादित और अशिष्ट शब्दों का उपयोग भी कर गए। कांग्रेस के स्टार प्रचारक के रूप में आचार्य प्रमोद कृष्णन और श्री सचिन पायलट ग्वालियर चंबल अंचल में कल से चुनावी सभाओं को संबोधित कर रहे हैं। 28 विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव के लिए मतदान तीन नवंबर को होगा। अब चुनाव प्रचार अभियान चरम पर पहुंच गया है, जो एक नवंबर की शाम थम जाएगा।
facebook twitter instagram