+

महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे आज कर सकते है मंत्रिमंडल का विस्तार

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पद की शपथ लेने के 41 दिन बाद अपने दो सदस्यीय मंत्रिमंडल का विस्तार आज यानी मंगलवार को कर सकते हैं।
महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे आज कर सकते है मंत्रिमंडल का विस्तार
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पद की शपथ लेने के 41 दिन बाद अपने दो सदस्यीय मंत्रिमंडल का विस्तार आज यानी मंगलवार को कर सकते हैं। शिंदे ने 30 जून को मुख्यमंत्री और देवेंद्र फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। उन्होंने सोमवार को नांदेड़ में पत्रकारों से कहा कि मंत्रिमंडल का विस्तार मंगलवार को होगा।
अगले चरण का मंत्रिमंडल विस्तार बाद में होगा।
शिंदे के एक सहायक ने नाम न उजागर करने की शर्त पर बताया कि दक्षिण मुंबई स्थित राज भवन में पूर्वाह्न 11 बजे एक समारोह आयोजित किया जाएगा। शिंदे ने जून में शिवसेना से बगावत की थी और कई बागी नेताओं के साथ मिलकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सहयोग से सरकार बना ली थी।
Koo App
भाजपा व स्व.बाळासाहेब ठाकरे यांच्या विचारांनी पुढे चाललेल्या युती सरकारमध्ये कॅबिनेट मंत्री म्हणून शपथ घेतली. पुन्हा एकदा मायबाप जनतेच्या सेवेत रुजू होतोय.मंत्रिमंडळात निवड झालेल्या माझ्या सगळ्या सहकाऱ्यांचं मनःपूर्वक अभिनंदन. मायबाप जनतेची अपेक्षापूर्ती करून राज्याला पुन्हा विकासाकडे अग्रेसर करण्यास सज्ज होऊया! या जबाबदारीबद्दल मा.पंतप्रधान @narendramodiजी, मा.गृहमंत्री @AmitShah जी, मा.राष्ट्रीय अध्यक्ष @JPNaddaजी, मुख्यमंत्री @mieknathshinde, उपमुख्यमंत्री @Dev_Fadnavis यांचे मनःपूर्वक आभार! - Chandrakant Patil (@ChDadaPatil) 9 Aug 2022
सूत्रों ने बताया कि शिंदे पर बागी नेताओं को मंत्रिमंडल में जगह देने का भारी जिम्मा होगा। शिंदे गुट से भारत गोगावले और शंभुराज देसाई के नाम मंत्री पद की दौड़ में आगे चल रहे हैं। 
सुरेश खाडे और अतुल सावे को मंत्री बनाया जा सकता है
उन्होंने बताया कि भाजपा से प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, सुधीर मुगंतीवार, गिरीश महाजन, राधाकृष्ण विखे पाटिल, सुरेश खाडे और अतुल सावे को मंत्री बनाया जा सकता है।
वहीं, महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता अजित पवार ने दावा किया कि शिंदे ने उनके खेमे में आने वाले प्रत्येक विधायक को मंत्री पद देने का वादा किया था। उन्होंने कहा, ‘‘अब शिंदे अपना वादा पूरा नहीं कर पा रहे हैं इसलिए मंत्रिमंडल विस्तार में देरी हुई है। मुख्यमंत्री को देरी की वजह बतानी चाहिए।’’
facebook twitter instagram