+

महाराष्ट्र Vs कर्नाटक : अमित शाह के दखल से सुलझेगा BJP साशित राज्यों का विवाद?

महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब सीमा विवाद को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात की जाएगी तभी इसका कोई हल निकलेगा।
महाराष्ट्र Vs कर्नाटक : अमित शाह के दखल से सुलझेगा BJP साशित राज्यों का विवाद?
महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।अब सीमा विवाद को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात की जाएगी तभी इसका कोई हल निकलेगा। इस बीच महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) ने बुधवार को पुलिस अलर्ट के बाद कर्नाटक के लिए अपनी बस सेवाएं निलंबित कर दी हैं। राज्य परिवहन विभाग ने इसकी पुष्टि की है। अलर्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद से जुड़े आंदोलन के दौरान कर्नाटक के अंदर बसों को लक्ष्य बनाकर हमला किया जा सकता है।  
महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा को लेकर  विवाद 
इससे पहले मंगलवार को महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि वह महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात करेंगे। फडणवीस ने यह भी कहा कि उन्होंने मंगलवार को हुई घटनाओं पर कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई से बात की थी। फडणवीस ने कहा, "मैंने खुद कर्नाटक के मुख्यमंत्री से बात की है। हम सुनिश्चित करते हैं कि शरद पवार साहब को कर्नाटक जाने की कोई जरूरत नहीं है। मैं इस कर्नाटक विवाद के बारे में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात करूंगा और वह जल्द ही इस मामले को देखेंगे।"
उन्होंने महाराष्ट्र और कर्नाटक के लोगों से शांति बनाए रखने और कानून व्यवस्था को अपने हाथ में नहीं लेने का आग्रह किया। फडणवीस ने कहा, "महाराष्ट्र कानून और व्यवस्था के लिए जाना जाता है और मैं महाराष्ट्र के लोगों से अनुरोध करता हूं कि वे कानून और व्यवस्था को अपने हाथ में न लें और सीमाओं पर शांति बनाए रखें। यह कर्नाटक की भी जिम्मेदारी है कि वह अपने क्षेत्रों में भी कानून व्यवस्था बनाए रखे। मैंने उनसे कहा कि इस प्रकार की घटना सही नहीं थी और ऐसा दोबारा नहीं होगा। पथराव और सार्वजनिक बसों को नष्ट करना दोनों राज्यों के लिए सही नहीं है।"'
 मामला सर्वोच्च न्यायालय में हैं 
शिंदे के डिप्टी ने आगे कहा, "हमारे संविधान में कहा गया है कि हर कोई किसी भी राज्य में कहीं भी रह सकता है। इस प्रकार की घटना नहीं होनी चाहिए। यह कानून और व्यवस्था के खिलाफ है। मामला सर्वोच्च न्यायालय में है, इसलिए सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाना सही नहीं है।"
 एकनाथ शिंदे ने फोन पर की चर्चा 
इस बीच, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज एस बोम्मई और उनके महाराष्ट्र के समकक्ष एकनाथ शिंदे ने भी मंगलवार को फोन पर इस मुद्दे पर चर्चा की और इस बात पर सहमति जताई कि दोनों राज्यों को शांति, कानून व्यवस्था बनाए रखनी चाहिए। बोम्मई ने ट्वीट किया, "महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मेरे साथ टेलीफोन पर चर्चा की। हम दोनों इस बात पर सहमत हुए कि दोनों राज्यों में शांति और कानून-व्यवस्था बनी रहनी चाहिए। 

facebook twitter instagram