+

चक्रवात ‘तौकते’ के मद्देनजर महाराष्ट्र कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन और बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करेगा

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि चक्रवात ‘तौकते’ के मद्देनजर राज्य के तटीय जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है और राज्य प्रशासन ने कोविड-19 अस्पतालों में बिजली और ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कमर कस ली है।
चक्रवात ‘तौकते’ के मद्देनजर महाराष्ट्र कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन और बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करेगा
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि चक्रवात ‘तौकते’ के मद्देनजर राज्य के तटीय जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है और राज्य प्रशासन ने कोविड-19 अस्पतालों में बिजली और ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कमर कस ली है। ठाकरे ने चक्रवातीय तूफान से निपटने की तैयारी के सिलसिले में हुई डिजिटल बैठक में केंद्रीय मंत्री अमित शाह को यह आश्वासन दिया।
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार चक्रवात तौकते ‘‘बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान’’ में बदल गया है और वह गुजरात तट की ओर बढ़ रहा है। आईएमडी ने अगले दो-तीन दिन दक्षिण महाराष्ट्र-गोवा तथा इससे सटे हुए कर्नाटक के तटों पर बहुत तेज हवा चलने का अनुमान व्यक्त किया है।
बैठक के दौरान ठाकरे ने कहा कि विशाल कोविड-19 केंद्र एवं अन्य केंद्र मरीजों को वर्षा से बचा सकते हैं, साथ ही इस चक्रवाती तू्फान के मद्देनजर मुम्बई से कुछ मरीज अन्य सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए सभी कदम उठाए गए हैं कि तटीय इलाकों में ऑक्सीजन का उत्पादन तथा राज्य के बाकी हिस्सों में उसकी ढुलाई प्रभावित न हो।
ठाकरे ने यह भी बताया कि तटीय क्षेत्रों से हटाकर लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा दिया है और आपदा प्रबंधन इकाइयों ने मोर्चा संभाल लिया है। उन्होंने कहा कि सिंधुदुर्ग, रत्नागिरि, रायगढ़ और पालगढ़ के जिलाधिकारियों एवं मुम्बई के निगम आयुक्त को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है कि समुद्र तटीय क्षेत्र में 900 मीट्रिक टन क्षमता के ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र सुरक्षित रहें। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली एवं लोकनिर्माण विभाग के अधिकारी भी चौकस हैं। उन्होंने कहा कि चक्रवात की चपेट में आने वाले जिलों में 12-16 घंटे का ऑक्सीजन बैकअप सुनिश्चित करने का इंतजाम करने के लिए कहा गया है। 
उन्होंने कहा कि गुजरात के जामनगर से सोमवार तक महाराष्ट्र में 160 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आने की संभावना है। यदि चक्रवात के कारण जामनगर में कोई दिक्कत उत्पन्न होती है तो अन्य स्थानों से अतिरिक्त स्टॉक हासिल करने के लिए इंतजाम किया जाएगा। ठाकरे ने कहा कि मछुआरे भी समुद्र से तट पर लौट रहे हैं । उन्होंने केंद्रीय मंत्री को सूचित किया कि महाराष्ट्र के पास दवाइयों का पर्याप्त भंडार है।
facebook twitter instagram