+

Maharastra : उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा -मंत्रिमंडल में महिलाओं को उचित प्रतिनिधित्व मिलेगा

महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को कहा कि राज्य मंत्रिमंडल में महिलाओं को उचित प्रतिनिधित्व मिलेगा।
Maharastra : उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा -मंत्रिमंडल में महिलाओं को उचित प्रतिनिधित्व मिलेगा
महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को कहा कि राज्य मंत्रिमंडल में महिलाओं को उचित प्रतिनिधित्व मिलेगा।मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मंगलवार को अपने दो सदस्यीय मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए उसमें 18 मंत्रियों को जगह दी। इनमें शिवसेना के बागी समूह और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नौ-नौ मंत्री शामिल हैं।
पुणे में एक कार्यक्रम के इतर फडणवीस ने कहा
मंत्रिमंडल में किसी महिला को जगह नहीं दी गई है, जिसकी महिला अधिकार कार्यकर्ता और राजनेता आलोचना कर रहे हैं।पुणे में एक कार्यक्रम के इतर फडणवीस ने कहा, “नवगठित मंत्रिमंडल में किसी महिला मंत्री को शामिल न किए जाने के मुद्दे को जल्द संबोधित किया जाएगा। हमारे मंत्रिमंडल में महिलाओं को उचित प्रतिनिधित्व मिलेगा।”
उन्होंने कहा कि राज्य की पिछली महा विकास अघाडी (एमवीए) सरकार में भी शुरुआत में महज पांच मंत्री थे और इनमें कोई महिला शामिल नहीं थी, लिहाजा उन्हें अब टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है। एमवीए सरकार के घटक दलों में शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस शामिल थे।
 मंत्रियों के नामों की सूची सोशल मीडिया पर साझा 
शरद पवार के नेतृत्व वाली राकांपा परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए फडणवीस ने कहा, “एक ऐसी पार्टी, जिसके दो पूर्व मंत्री भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में हैं, उसे हमारे मंत्रिमंडल पर उंगली उठाने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।”राकांपा ने मंगलवार को शपथ लेने वाले मंत्रियों के नामों की सूची सोशल मीडिया पर साझा कर उनके कथित भ्रष्टाचार को रेखांकित किया था।राकांपा के पूर्व मंत्री अनिल देशमुख और नवाब मलिक धनशोधन से जुड़े अलग-अलग मामलों में प्रवर्थन निदेशालय (ईडी) द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद से जेल में हैं।
 एकनाथ शिंदे ने पहले ही इस मुद्दे पर हमारा रुख स्पष्ट कर दिया 
नए मंत्रिमंडल में संजय राठौड़ को शामिल किए जाने के सवाल पर फडणवीस ने कहा कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने पहले ही इस मुद्दे पर हमारा रुख स्पष्ट कर दिया है और अब टिप्पणी करने की कोई जरूरत नहीं है।एमवीए सरकार में वन मंत्री रहे राठौड़ को पिछले साल उस समय इस्तीफा देने के लिए मजबूर होना पड़ा था, जब भाजपा नेताओं ने उन्हें एक महिला को खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप लगाया था।

facebook twitter instagram