+

मांझी का अटूट विश्वास, कहा- हम नीतीश कुमार के साथ थे, उनके साथ बने रहेंगे

जीतन राम मांझी की पार्टी HAM ने स्पष्ट किया कि वह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले राज्य में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को जारी रखने जा रही है।
मांझी का अटूट विश्वास, कहा- हम नीतीश कुमार के साथ थे, उनके साथ बने रहेंगे
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (HAM) ने शुक्रवार को स्पष्ट किया कि वह मुख्यमंत्री और जनता दल (यूनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले राज्य में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को जारी रखने जा रही है।
उन्होंने कहा कि “हम यह स्पष्ट करना चाहते हैं कि हम एनडीए के साथ रहेंगे। हमारे नेता जीतन राम मांझी ने स्पष्ट रूप से कहा है कि हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ा था, हम उनके साथ थे और उनके साथ रहेंगे।" हम प्रमुख जीतन राम मांझी को 4 सदस्यीय विधायक दल का नेता चुने जाने के एक दिन बाद यह बयान आया है। बाद में मीडिया से बातचीत करते हुए मांझी ने राज्य की प्रगति के लिए नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायकों को एनडीए में शामिल होने की सलाह दी।
मांझी ने कहा कि "नीतीश कुमार की विकास योजनाएं कांग्रेस से बहुत अलग नहीं हैं। इसके अलावा, उन्होंने कई मुद्दों को योजनाओं से दूर रखा है जो राज्य के हित में नहीं हैं। इसलिए, आप एनडीए में शामिल हो सकते हैं और राज्य के विकास में अपना योगदान दे सकते हैं।" मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में राजग, 122 सीटों के बहुमत के निशान को पार करके बिहार में एक और कार्यकाल के लिए तैयार है। 
भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, एनडीए के सभी साथी- बीजेपी, जेडी (यू), विकासशील इंसान पार्टी, और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्युलर) ने 243 विधानसभा क्षेत्रों में से 125 सीटें जीतीं। जबकि भाजपा ने 74 विधानसभा सीटें जीतीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडी (यू) ने 43 सीटें जीतीं, विकासशील इंसान पार्टी ने 4 निर्वाचन क्षेत्रों में जीत दर्ज की है। 
facebook twitter instagram