+

बिहार में कोरोना वायरस की वजह से 'सात फेरों' पर लगा ग्रहण, कई शादियां हुई रद्द

बिहार में कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण के तेजी से फैलने और इसे रोकने लिए सरकार द्वारा लगाए गए नाइट कर्फ्यू के बाद इस शादी ब्याह के मौसम में अब शादियों की तिथियां टलने लगी हैं।
बिहार में कोरोना वायरस की वजह से 'सात फेरों' पर लगा ग्रहण, कई शादियां हुई रद्द
बिहार में कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण के तेजी से फैलने और इसे रोकने लिए सरकार द्वारा लगाए गए नाइट कर्फ्यू के बाद इस शादी ब्याह के मौसम में अब शादियों की तिथियां टलने लगी हैं। इस कारण तमाम बुकिंग भी रद्द होने लगे हैं। पटना के जगदेव पथ में रहने वाले राजेश दास की बहन की शादी मधुबनी में तय हुई थी। मई में शादी की तिथि तय थी। इस रिश्ते के लिए सगाई किसी तरह अप्रैल महीने में हो गई, लेकिन जिस तरह कोरोना का संक्रमण फैल रहा है और नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है उसमें अब विवाह मुश्किल दिख रहा है। उन्होंने कहा, "शादी की तिथि रदद कर दी गई। अब आगे की तिथियां खोजी जा रही है। अब नवंबर में नया मुहूर्त खोजा जा रहा है।"
आम तौर पर खरमास महीने के बाद यानी 14 अप्रैल के बाद शादी का मूहुर्त प्रारंभ होता है। इस साल अप्रैल और मई में शादी के लिए कई लग्न हैं। शादी के लिए सराती-बराती दोनों पक्ष की ओर से तैयारियां भी पूरी हो गई थी। अब कोरोना के कारण कई लोग जहां शादियों की तिथि टाल रहे हैं वहीं कई लोग आयोजन में ही कटौती करने को मजबूर हो रहे हैं। बोरिंग रोड के रहने वाले सागर अपनी बेटी की शादी बड़े धूमधाम से करने वाले थे। इसके लिए सभी तैयारियां भी कर ली गई थी। बैंक्वेट हॉल बुक कर दिया गया था। रिसेप्शन को लेकर भव्य तैयारी की जा रही थी। उन्होंने कहा कि कॉर्ड भी बंट गए थे, लेकिन अब सब कुछ कैंसिल करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि व्हाट्सएप्प के जरिए मैसेज देकर शादी और पार्टी में नहीं आने का अनुरोध कर रहा हूं। कोरोना के कारण घरों में ही रहने का निवेदन कर रहा हूं।
वे कहते हैं, "अब शादी घर से ही कर दी जाएगी, जिसमें कुछ घर परिवार के लोग ही शामिल होंगे।' कोरोना के कारण विवाह भवन, होटल, गेस्ट हाउस, हलवाई, सजावट, वाहन, ब्यूटीशियन आदि के आर्डर भी कैंसिल हो रहे हैं। एक बैंक्वेट हॉल के प्रबंधक अजीत कुमार कहते हैं कि अब तक 50 प्रतिशत बुकिंग कैसिंल हो गए हैं। कई ग्राहकों को तो पैसा लौटाने की नौबत आ गई है। कुछ लोग शादियों की तिथियां नवंबर-दिसंबर तक टाल रहे हैं, जो आज भी अग्रिम बुिंकंग करवा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि इस साल गर्मी के महीने में काफी लग्न था, हम सभी पिछले साल के हुए नुकसान की भरपाई करना चाहते थे, लेकिन इस बार फिर सीजन में एक बार फिर कोरोना का कहर टूट पड़ा। ज्योतिषाचार्यों की मानें तो इस साल अप्रैल, मई जून, नवंबर और दिसंबर में शादी का मुहूर्त है। बनारसी पचांग के मुताबिक अप्रैल महीने में सात दिन वैवाहिक मुहूर्त है जबकि मई में 19 दिन विवाह के लिए शुभ मुहूर्त है। जून महीन में 13 दिन शादी का शुभ मुहूर्त बना है।

facebook twitter instagram