+

सत्ता में आए तो सभी जातियों के संतों के नाम पर UP में कराएंगे अस्पतालों का निर्माण : मायावती

मायावती ने कहा कि 2022 में उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के बाद अगर बसपा सत्ता में आती है तो परशुराम और सभी जातियों, धर्मों में जन्मे महान संतों के नाम पर अस्पताल और सुविधा युक्त ठहरने के स्थानों का निर्माण किया जाएगा।
सत्ता में आए तो सभी जातियों के संतों के नाम पर UP में कराएंगे अस्पतालों का निर्माण : मायावती
समाजवादी पार्टी (सपा) के नये नवेले ब्राह्मण प्रेम पर सेंध लगाने के लिये अब बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने कमर कसी है।अयोध्या में पिछले दिनों राम मंदिर के भूमि पूजन के अवसर पर देश भर में उठी हिन्दुत्व की लहर को भांपते हुये बसपा सुप्रीमो मायावती ने रविवार को घोषणा की कि उनकी पार्टी की सरकार बनने पर उत्तर प्रदेश में भगवान परशुराम समेत सभी जातियों के महान संतों के नाम पर अस्पतालों का निर्माण कराया जायेगा।
मायावती ने कहा कि 2022 में उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के बाद अगर बसपा सत्ता में आती है तो कोरोना के मद्देनजर राज्य और केंद्र सरकार की कमियों को ध्यान में रखते हुए ब्राह्मण समाज की आस्था के प्रतीक परशुराम और सभी जातियों, धर्मों में जन्मे महान संतों के नाम पर अस्पताल और सुविधा युक्त ठहरने के स्थानों का निर्माण किया जाएगा।
उन्होने कहा कि बसपा सरकार ने पहल भी सभी वर्गों के महान संतों के नाम पर अनेक जनहित योजनाएं शुरू की थीं और जिलों के नाम रखे थे, जिसे बाद में आई समाजवादी पार्टी की सरकार ने मानसिकता और द्वेष की भावना के चलते बदल दिया। उन्होने कहा कि यदि उनकी सरकार सत्ता में आयी तो समाजवादी पार्टी से भी भव्य परशुराम की मूर्ति उनकी सरकार लगवाएगी।
इससे पहले सपा के राष्ट्रीय सचिव अभिषेक मिश्रा ने शुक्रवार को एलान किया था कि सामाजिक संस्था परशुराम चेतना पीठ लखनऊ में भगवान परशुराम की 108 फिट ऊंची कांस्य प्रतिमा स्थापित करेगी। इसके साथ भगवान परशुराम शोध संस्थान और गुरूकुल की स्थापना की जायेगी जिसमें ब्राहृमण समाज के गरीब बच्चों की शिक्षा का प्रबंध किया जायेगा। चूंकि वह सपा के निष्ठावान कार्यकर्ता है,इसलिये इस काज को सपा से जोड़ना कोई अतिश्योक्ति नहीं कही जा सकती।

रक्षा उपकरणों के आयात पर प्रतिबंध को लेकर चिदंबरम का तंज- घोषणा सिर्फ एक 'शब्दजाल'



facebook twitter