+

मीट की खुली दुकानें दिखा रहीं डीएम के आदेशों को ठेंगा

मीट की खुली दुकानें दिखा रहीं डीएम के आदेशों को ठेंगा

नरसैना: अगर आप को मीट शॉप का लाइसेंस लेकर दुकान चलानी हो तो उंचागॉव चले आइए बस थोडा सा साहब लोगो को मिठाई खिलानी पडेगी। खाद्य विभाग ने सारे नियम कायदों को ठेंगा दिखाकर दो मंदिरों के पास आबादी के बीचों बीच मीट शॉप का लाइसेंस जारी कर दुकान खुलवा डाली। सावन के पवित्र माह मे भी दुकान पर मीट की बिक्री जारी है। योगी सरकार ने सरकार बनते ही सबसे पहले अवैध बूचडखानों पर भले ही ताले डलवा दिए और बगैर लाइसेंस के कोइ भी मीट की बिक्री नही करेगा के फरमान को खाद्य विभाग जमकर पलीता लगा रहा है।

बताते चलें कि सरकार ने लाइसेंस जारी करने में साफ निर्देषित किया था कि आबादी से बाहर तथा मंदिर -मस्जिद से 100 मीटर की दूरी तथा दुकान शीषे लगे हो फ्रिज की अनिवार्यता करने जैसे आदि मानक पूरे करने वाले दुकानदार को ही लाइसेंस आवंटित किया जाये लेकिन खाद्य विभाग ने सेटिंग करके दो मंदिरों को नजर अन्दाज कर मीट शॉप का लाइसेंस जारी कर डाला। मीट शॉप सबसे पहले तो आबादी मे है वही सबसे बडी बात यह कि मीट शॉप से दो कदम दूर पथवारी का मंदिर है वही मात्र 60 मीटर दूर स्थित बडा षिव मंदिर है। जिससे उजागर होता है कि अधिकारियों के लिए शासन के निर्देष कोइ मायने नही रखते है।

जिला अधिकारी की मनाही के बाद भी खुल रही मीट शॉप: जिला अधिकारी ने कॉवड को लेकर पूरे जनपद में 21 जौलाई तक मीट की दुकाने बंद करने का आदेष जारी किया लेकिन उंचागॉव में धडल्ले से मीट की दुकाने इस पवित्र माह मे भी खोली जा रही है। खाद्य निरीक्षक षिवदास सिंह से जब इस बारे मे पूछा तो उन्होने कहा कि मुझसे पहले संतुति कर दी होगी। ऐसा है तो मामले को देखूॅगा और दुकान को तुरन्त बंद करवाया जायेगा।

– ओएस राघव

facebook twitter