माइक पोम्पियो ने फ्रांस के विदेश मंत्री से ईरान के मुद्दे पर की चर्चा

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने सोमवार को फ्रांस के विदेश मंत्री जीन-वेस ली ड्रायन से ईरान और इस्लामिक स्टेट के मुद्दे पर चर्चा की। पोम्पियो ने ट्वीट किया, ‘‘फ्रांस के विदेश मंत्री जीन-वेस ली ड्रायन और मैंने इराक में इस्लामिक स्टेट का मुकाबला करने और ईरान की गतिविधियों को काबू करने के लिए अमेरिकी और यूरोपीय प्रयासों के महत्व पर चर्चा की।’’ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के निर्देश पर एक अमेरिकी अभियान में बगदाद के अंतरराष्ट्रीय हवाई के नजदीक एक ड्रोन हमला कर ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स के कुर्द्स बल के प्रमुख कासिम सुलेमानी की हत्या कर दी गयी थी।

अमेरिका के मुताबिक सुलेमानी इराक और पश्चिम एशिया में अमेरिकी राजनयिकों और सैनिकों पर हमले करने की योजना बना रहे थे। उन्होंने इराक में गठबंधन के ठिकानों पर पिछले कुछ महीनों में कई हमले किए थे, जिनमें 27 दिसंबर को हुआ हमला भी शामिल था। इस हमले में अमेरिकी और इराकी कर्मी हताहत हुए थे। जनरल सुलेमानी ने 31 दिसंबर को बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर हुए हमलों को भी मंजूरी दी थी। अमेरिका ने शुक्रवार को ईरान पर नए प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है।

इसके जवाब में ईरान ने इराक में अमेरिकी सैन्य ठिकानों को निशाना बनाकर कई हवाई हमले किए थे। जिसमें गलती से यूक्रेन का एक यात्री विमान ईरान के मिसाइल हमले में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

गौरतलब है कि पिछले बुधवार को हुए यूक्रेन विमान हादसे में विमान में सवार सभी यात्रियों और विमान कर्मचारियों समेत कुल 176 लोग मारे गए थे। मृतकों में अधिकतर लोग ईरान और कनाडा के थे। यह हादसा उसी दिन हुआ जब ईरान ने इराक में अमेरिकी ठिकानों को लक्ष्य बनाकर 15 से अधिक मिसाइलें दागी थी। ईरान की इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कार्प्स (आईआरजीसी) ने एक बयान जारी कर यूक्रेन के बोइंग 737 यात्री विमान को गलती से मार गिराने की पूरी जिम्मेदारी ली है।

Tags : Railway Board,Punjab Kesari,हाजीपुर,Hajipur,246 Water Vending Machines ,Mike Pompeo,Iran,Foreign Minister,French,US,Iraq,missile attack,airstrikes,Ukrainian