टकसालियों ने डराएं बादल, लगे शीर्ष नेताओं के संग दरबार साहिब में जूते और झूठे बर्तन साफ करने, हरसिमरत कौर ने बनाई रोटियां

लुधियाना- अमृतसर : अकाली - भाजपा सरकार के वक्त श्री गुरू गंथ साहिब जी की बेअदबियों के उपरांत सिख संगत के बढ़ते रोष को शांत करने और अपने 10 साल के कार्यकाल के दौरान की गई गलतियों की बिन मांगे भूले बख्शाने के उपरांत आज एक बार फिर शिरोमणि अकाली दल (बादल) के प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने पार्टी के शीर्ष नेताओं के संग सचखंड श्री हरिमंदिर साहिब में माथा टेकने के पश्चात गुरू रामदास लंगर हाल में जाकर संगत के झूठे बर्तन और जोड़े घर में दरबार साहिब को आने वाली संगत के जूतों को साफ और पॉलिश करके सेवा निभाई। 

इस दौरान  केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने भी गुरू रामदास लंगर हाल में जाकर संगत के लिए रोटियां सेंकी। इस अवसर शिरोमणि अकाली दल की समूची लीडरशिप जिनमें पूर्व केंद्रीय मंत्री विक्रम सिंह मजीठिया, पार्टी महासचिव डॉ दलजीत सिंह चीमा, गुलजार सिंह रानीके, गुरू प्रताप सिंहटीका, तलबीर सिंह गिल, महेश इंद्र सिंह ग्रेवाल, स. विरसा सिंह वलटोहा, भाई राजिंद्र सिंह मेहता, स. हरमीत सिंह संधू, दयाल सिंह कोलियांवाली, पूर्व एसजीपीसी अध्यक्ष बीबी जगीर कौर और शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के मोजूदा अध्यक्ष जत्थेदार भाई गोबिंद सिंह लोंगोवाल भी पार्टी प्रधान के साथ सेवा निभाते दिखे। इससे पहले स्थापना दिवस के संबंध में आज श्री अकाल तख्त साहिब के गुरूद्वारा बाबा गुरूबख्श सिंह शहीद में श्री अखंड पाठ साहिब आरंभ करवाएं गए।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक उक्त सेवा पार्टी की समस्त लीडरशिप शिरोमणि अकाली दल के 99 साल पूरा होने पर स्थापना दिवस के अवसर पर पार्टी की तरफ से रखाएं गए श्री अखंड पाठ साहिब के लिए दरबार साहिब पहुंचे थे। श्री अखंड पाठ साहिब के भोग 14 दिसंबर शनिवार को स्थापना दिवस के अवसर पर डाले जाएंगे।

इसी दिन शिरोमणि अकाली दल का जनरल इजलास होगा, जिसमें पार्टी प्रधान का चुना जाना तय है।  सूत्रों के मुताबिक सुखबीर सिंह बादल को ही पुन: पार्टी प्रधान चुने जाने की संभावनाएं जताई जा रही है। स्मरण रहे कि शिरोमणि अकाली दल का डेलीगेट  सेशन शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के मुख्यालय तेजा सिंह समुद्री हाल में होगा। जिसमें अपनी पार्टी की मेम्बरशिप बढ़ाने और समूचे पंजाब में जिला स्तर पर डेलीगेट चुने जा रहे है।  
उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ समय से शिरोमणि अकाली दल के  वरिष्ठ नेता सुखदेव सिंह ढींढसा समेत पंथक अकाली नेताओं ने जिनमें रंजीत सिंह ब्रहमपुरा, डॉ रतन सिंह अजनाला और सेवा सिंह सेखवां व अन्य शामिल है, ने बादल परिवार के विरूद्ध खुली बगावत का बिगुल बजा रखा है। इसी बीच पार्टी के अंदरखाते पिछले एक साल से कई शीर्ष नेता पार्टी प्रधान के विरूद्ध सुर निकाल रहे है। 

सुखदेव सिंह ढींढसा ने खुली बगावत करते हुए स्पष्ट किया है कि अकाली दल पर बादल परिवार का कब्जा है, इसे स्थापना दिवस से पहले मुकत करवाया जाएंगा। उन्होंने अकाल तख्त साहिब के कामों में भी बादलों की दखलंदाजी के आरोप लगाए है, उनका कहना है कि बादल परिवार के कब्जे के कारण पार्टी अपनी विचारधारा छोड़ चुकी है। उन्होंने भी पंथक नेताओं के साथ 14 दिसंबर को अपना अलग से 100वां स्थापना दिवस मनाने की घोषणा की है।

- सुनीलराय कामरेड
Tags : Punjab Kesari,DRDO,Supersonic cruise missile,BrahMos Advanced,HyperSonic capability,ब्रह्मोस उन्नत ,leaders,Darbar Sahib,Harsimrat Kaur,government,Akali,BJP,Sikh Sangat,Shri Guru Ganth Sahib