+

PM मोदी ने देरी से पहुंचने की वजह से जनसभा को नहीं किया संबोधित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को देर से पहुंचने के कारण सिरोही जिले के आबू रोड में एक जनसभा को संबोधित नहीं किया। मोदी ने इसके लिए लोगों से खेद जताते हुए कहा कि उन्हें लाउडस्पीकर संबंधी नियमों का पालन करना होगा।
PM मोदी ने देरी से पहुंचने की वजह से जनसभा को नहीं किया संबोधित
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को देर से पहुंचने के कारण सिरोही जिले के आबू रोड में एक जनसभा को संबोधित नहीं किया। मोदी ने इसके लिए लोगों से खेद जताते हुए कहा कि उन्हें लाउडस्पीकर संबंधी नियमों का पालन करना होगा।
मोदी ने बिना माइक से किए अपने संबोधन में कहा, “मैं आप सब से क्षमा मांगता हूं लेकिन आपको विश्वास दिलाता हूं कि मैं यहां फिर आऊंगा और आपका ये जो प्यार है उसे मैं ब्याज समेत चुकता करूंगा।”
गुजरात के अंबाजी से शुक्रवार रात 10 बजकर 20 मिनट पर आबू रोड पहुंचे प्रधानमंत्री ने जनसमूह को बिना माइक से किए संबोधन में कहा “ मुझे पहुंचने में देर हो गई। दस बज गये हैं.. मेरी आत्मा कहती है कि मुझे कानून व नियम का पालन करना चाहिए और इसलिए मैं आप सबसे क्षमा मांगता हूं।”
उन्होंने संबोधन के बाद मंच से जनता को झुककर तीन बार नमन किया और ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाया जिसे लोगों ने दोहराया।
इससे पूर्व प्रधानमंत्री मोदी के आबू रोड पहुंचने पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने उन्हें साफा पहना कर उनका अभिनंदन किया। इस अवसर पर केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, सांसद देव जी पटेल और विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया समेत अन्य पदाधिकारी और नेता मौजूद थे।
रैली के लिए सिरोही, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, पाली, उदयपुर और आसपास के 40 विधानसभा क्षेत्रों के पार्टी कार्यकर्ताओं को बुलाया गया था।
गुजरात सीमा से सटे दक्षिणी राजस्थान में पार्टी कार्यकर्ताओं के मनोबल को बढ़ाने के लिए रैली आयोजित करने की योजना बनाई गई थी। कांग्रेस शासित राजस्थान में विधानसभा चुनाव अगले साल के अंत में होने हैं।
गुजरात के बनासकांठा जिले के प्रसिद्ध अंबाजी मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद प्रधानमंत्री आबू रोड पहुंचे थे।
facebook twitter instagram