बैंकों पर बढ़ेगी निगरानी

चेन्नई : रिजर्व बैंक के केंद्रीय निदेशक मंडल ने मंगलवार को विशेषीकृत पर्यवेक्षी और नियामकीय कैडर सृजित करने का निर्णय किया। इसका मकसद वाणिज्यिक बैंकों, शहरी सहकारी बैंकों तथा गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों की निगरानी तथा नियमन व्यवस्था को मजबूत करना है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता में केंद्रीय निदेशक मंडल की बैठक में इस आशय का निर्णय किया गया।

डिप्टी गवर्नर एन एस विश्वनाथन, डा. विरल आचार्य, बीपी कानूनगो ओर महेश कुमार जैन के अलावा आरबीआई केंद्रीय निदेशक मंडल में निदेशक भरत दोषी, सुधीर माकंड, मनीष सब्बरवाल, सतीश मराठे तथा स्वामीनाथन गुरूमूर्ति बैठक में शामिल हुए।

रिजर्व बैंक की विज्ञप्ति के अनुसार निदेशक मंडल ने मौजूदा आर्थिक स्थिति, वैश्विक तथा घरेलू चुनौतियों तथा विभिन्न क्षेत्रों में केंद्रीय बैंक के कामकाज की समीक्षा की। निदेशक मंडल ने केंद्रीय बोर्ड में बतौर निदेशक शामिल तथा आईटीसी के पूर्व चेयरमैन के निधन पर शोक भी जताया। बैठक में वित्त सचिव तथा आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग, वित्तीय सेवा विभाग के सचिव राजीव कुमार भी शामिल हुए।

Download our app