+

सपा से नियम या शिष्टाचार की उम्मीद सिर्फ एक कपोल कल्पना : CM योगी

विधानसभा में मानसून सत्र की शुरुआत से पहले मीडिया को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर ज़ोरदार हमला बोला।
सपा से नियम या शिष्टाचार की उम्मीद सिर्फ एक कपोल कल्पना : CM योगी
उत्तर प्रदेश विधानसभा में मानसून सत्र की शुरुआत से पहले मीडिया को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर ज़ोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि किसी भी दल और व्यक्ति को लोकतांत्रिक तरीके से अपनी बात रखने में कोई बुराई नहीं है।
मुख्यमंत्री योगी ने कहा, आज उत्तर प्रदेश विधानमंडल का मानसून सत्र प्रारंभ हो रहा है...उत्तर प्रदेश की 25 करोड़ जनता की आकांक्षा और अपेक्षा को सदन में रखकर उन समस्याओं के माध्यम से आमजन की संवेदना के साथ अपनी संवेदना को जोड़ने का एक अवसर सभी सदस्यों को प्राप्त होगा।
उन्होंने कहा कि 25 करोड़ लोगों के हितों के लिए डबल इंजन की सरकार बिना भेदभाव के कार्य कर रही है। डबल इंजन की सरकार समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति को शासन की योजानाओं का लाभ पहुंचा रही है। विभिन्न चुनौतियों का सामना करते हुए भी यहां अभाव और अराजकता के लिए जगह नहीं है।

UP : योगी सरकार के खिलाफ अखिलेश यादव के नेतृत्व में सपा का विधानसभा तक पैदल मार्च

समाजवादी पार्टी के पैदल मार्च पर सीएम योगी ने कहा, किसी भी दल और व्यक्ति को लोकतांत्रिक तरीके से अपनी बात रखने में कहीं कोई बुराई नहीं है...अगर उन्होंने (समाजवादी पार्टी) अनुमति मांगी होगी तो जो भी सरल मार्ग होगा प्रशासन ने उनको उपलब्ध कराया होगा।
उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि समाजवादी पार्टी से यह उम्मीद करना कि वह किसी नियम या किसी शिष्टाचार को माने, यह केवल एक कपोल कल्पना ही कही जा सकती है। दरअसल, सपा ने महंगाई, कानून-व्यवस्था और बेरोजगारी जैसे तमाम मुद्दे को लेकर योगी सरकार को घेरने की रणनीति बनाई है।
सपा का प्रदर्शन जनता के हितों से जुड़ा हुआ नहीं :  उप मुख्यमंत्री 
सपा के मार्च पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि समाजवादी पार्टी जिसे मार्च का नाम देकर विरोध प्रदर्शन कर रही है वो जनता के हितों से जुड़ा हुआ है ही नहीं। अगर उन्हें जनता से जुड़े किसी मुद्दे पर चर्चा करनी है तो सदन में करनी चाहिए, जो कार्यवाही का हिस्सा बने। सरकार चर्चा के लिए तैयार है।

facebook twitter instagram